टीएमसी नेता सुजाता खान
Advertisement

टीएमसी नेता सुजाता खान

बंगाल में चल रहे विधानसभा के चुनाव प्रचार के दौरान टीएमसी नेता सुजाता खान का एक बेहद ही शर्मनाक बयान सामने आया है. दरअसल एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में सुजाता खान ने अनुसूचित जाति को लेकर अपशब्द कह दिए. जिसके बाद बीजेपी नेताओ ने सुजाता खान के इस बयान पर चुनाव आयोग में आपत्ति दर्ज कराई है.

बंगाल के आरामबाग विधानसभा सीट से टीएमसी प्रत्याशी सुजाता खान ने एक टीवी चैनल को दिए गए इंटरव्यू में कह दिया कि अनुसूचित जाति के लोग स्वभाव से भिखारी होते हैं. ममता बनर्जी ने उनके लिए इतना कुछ किया, लेकिन फिर भी ये लोग चंद पैसों के लिए बीजेपी के पीछे-पीछे हो रहे हैं. वो पैसो के लिए बीजेपी को अपना वोट बेच रहे हैं.

Advertisement

सुजाता खान इतने पर ही नहीं ठहरी आगे उन्होंने कहा कि एक कहावत है कुछ लोग परिस्थतियों के कारण तो कुछ स्वभाव से भिखारी होते है. अनुसूचित जाति वाले स्वभाव से भिखारी होते है. टीएमसी नेता सुजाता खान के इस बयान पर बीजेपी नेताओ ने कड़ा विरोध जताया और चुनाव आयोग में इस बाबत शिकायत भी दर्ज करवाई.

चुनाव आयोग ने सुजाता खान के इस विवादित बयान का संज्ञान लेते हुए उन्हें नोटिस जारी किया है और साथ उन्हें 24 घंटे के भीतर जवाब माँगा है. अगर वह ऐसा नहीं करती है तो उनके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी. और साथ ही सुजाता खान का स्टार प्रचारक का दर्जा भी छीन लिया जाएगा.

पीएम नरेन्द्र मोदी ने भी सुजाता खान के इस बयान को लेकर चुनाव प्रचार के दौरान एक रैली में सवाल उठाया था. पीएम मोदी ने एक रैली के दौरान कहा कि एक विडियो सामने आया है जिसमे ममता दीदी की एक करीबी नेता ने एससी समुदाय के लोगो का बहुत बड़ा अपमान किया है. मोदी ने कहा कि दीदी की पार्टी के लोग बंगाल के अनुसूचित समुदाय के भाई बहनों को भिखारी समझते है.

ये भी पढ़े-सउदी अरब में पढ़ाई जा रही है रामायणं और महाभारत, जानिए पूरी रिपोर्ट

Advertisement

By Sachin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *