उत्तर प्रदेश

यूपी के CM योगी आदित्यनाथ ने राज्य में ‘उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना’ ऐलान कर दिया है, सरकार कोरोना से अनाथ हुए बच्चों के लिए अभिभावक का काम करेगी.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कोरोना (Corona) से अनाथ हुए बच्चों के लिए बड़ा ऐलान कर दिया है. बता दें की राज्य की भारतीय जनता पार्टी की योगी सरकार ने ‘उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना’ की घोषणा करी है. इसके अंतर्गत राज्य सरकार महामारी के कारण अनाथ बच्चों के लिए अभिभावक या केयर टेकर का काम करेगी. बताया जा रहा है की राज्य में कोरोना के कारण कई लोगों की मृत्यु हुई है और बहुत से बच्चे भी अनाथ हुए हैं ऐसे में सरकार का ये निर्णय उन्हें सहारा और मदद देने के लिए लिया गया है.

मुख्यमंत्री कार्यालय ने अपने अधिकारिक ट्विटर हैंडिल से ट्विट कर इस जानकारी को साझा करते हुए कहा की ‘कोरोना संक्रमण के कारण अनाथ हुए बच्चों की देखभाल के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने ‘उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा’ योजना को लागू करने का निर्णय लिया है’.

एक ओर ट्विट में मुख्यमंत्री कार्यालय ने लिखा की ‘उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा’ योजना के अंतर्गत ऐसे बच्चों को भी शामिल किया गया है, जिन्होंने कोविड संक्रमण के कारण अपने माता-पिता में से आय अर्जित करने वाले अभिभावक को खो दिया हो.

मुख्यमंत्री कार्यालय ने बताया की ‘उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना’ के अंतर्गत Guardian/Care Taker को  राज्य सरकार के द्वारा अनाथ बच्चों की देखभाल हेतु ₹4,000 प्रति माह, प्रति बच्चे की दर से वित्तीय सहायता दी जाएगी.

बता दें की मुख्यमंत्री कार्यालय ने अपने एक ट्विट में लिखा की ‘प्रदेश में वर्तमान में 0 से 10 वर्ष की आयु हेतु 5 राजकीय बाल गृह (शिशु) संचालित हैं, जिनमें मथुरा, लखनऊ, प्रयागराज, आगरा एवं रामपुर शामिल हैं’.

कार्यालय ने यह भी जानकारी दी की ‘उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना’ के अंतर्गत 10 साल से कम आयु के ऐसे बच्चे जिनकी Guardian/Extended Family नहीं है, ऐसे सभी बच्चों को UP सरकार द्वारा भारत सरकार की सहायता से अथवा अपने संसाधनों से संचालित राजकीय बाल गृह (शिशु) में आवासित किया जाएगा तथा उनकी देखभाल की जाएगी.

जानकारी आगे बढ़ते हुए मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा की ‘अवयस्क बच्चियों की देखभाल व उनकी पढाई-लिखाई हेतु भारत सरकार द्वारा संचालित कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों (आवासीय) में अथवा राज्य सरकार द्वारा संचालित राजकीय बाल गृह (बालिका) में अथवा प्रदेश में स्थापित किए जा रहे 18 अटल आवासीय विद्यालयों में रखकर उनकी देखभाल की जाएगी’.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

योगी सरकार का बड़ा निर्णय, कोरोना से मृतकों का निशुल्क होगा दाह संस्कार

By Sachin

One thought on “‘उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना’ की हुई घोषणा”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *