GDP

भारत की GDP को लेकर पूर्व वित्त मंत्री पी चिंदबरम और अनुराग ठाकुर आपने सामने भीड़ पड़े, इस दौरान भाजपा सांसद ने सबूत सहित पेश की रिपोर्ट.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कोंग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिंदबरम और भारतीय जनता पार्टी के सांसद और केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर आपस में भिड़े तो अनुराग ने सबूत सहित एक रिपोर्ट पेश करी है, जिसमें उन्होंने पी चिंदबरम के सभी आरोपों को गलत ठहराते हुए करारा जवाब भी दिया है.

बता दें की पी चिंदबरम ने भाजपा पर आरोप लगाया था की वित्त वर्ष 2020-21 पिछले 4 दशकों में देश की अर्थव्यवस्था का सबसे खराब साल रहा है, इस दौरान ग्रोथ रेट रिकॉर्ड निगेटिव दर्ज की गई और अधिकांश भारतीयों की आर्थिक स्थिति इतनी खराब हो गई है जो दो साल पहले थी. उन्होंने यह भी आरोप लगाया की भारतीय वित्त मंत्रालय पर भारत की जीडीपी (GDP) वृद्धि दर को लेकर जनता को गुमराह किया है.

जिसक पर ट्विट पे ट्विट कर अनुराग ठाकुर ने जवाब देते हुए कहा “क्या भारतीय अर्थव्यवस्था आइसोलेटेड आइलैंड है? क्या दूसरी अर्थव्यवस्थाओं ने अपनी GDP में संकुचन नहीं देखा? फ्रांस, जर्मनी, यूके, इटली, अमेरिका, रूस और कनाडा जैसे देशों को भी जीडीपी में संकुचन झेलना पड़ा। लेकिन भारत में जारी सुधार प्रयासों के कारण जीडीपी ने वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में 24.4% संकुचन से चौथी तिमाही में 1.6% वृद्धि दर की यात्रा तय की है”.

उन्होंने एक ग्राफ शेयर करते हुए कहा की “भले ही पूर्व वित्त मंत्री भारतीय उद्योगों, मझोले व्यापारियों और सूक्ष्म एवं लघु उद्योगों द्वारा अपने को संभालने के प्रयासों पर शंका करें लेकिन कई अंतरराष्ट्रीय आर्थिक वृद्धि अनुमान एजेंसियों ने भारत की 12.5% वृद्धि दर का अनुमान लगाया है। भारत एक मात्र ऐसी बड़ी अर्थव्यवस्था है जिसके लिए दो अंकों की वृद्धि दर का अनुमान लगाया गया है”.

पूर्व वित्त मंत्री पी चिंदबरम को अनुराग ने जवाब दिया की “2009-14 में यूपीए सरकार द्वारा नकद हस्तांतरण में खर्च किए गए 3.74 लाख करोड़ रुपए की तुलना में भारत सरकार ने 2014-19 के दौरान गेहूँ और चावल की खरीद के लिए 8 लाख करोड़ रुपए खर्च किए. 5 सालों के दौरान जहां एनडीए सरकार ने 306.9 मिलियन टन धान और 162.7 मिलियन टन गेहूं की खरीद की वहीं UPA सरकार ने 2009-13 के दौरान 176.8 मिलियन टन धान और 139.5 मिलियन टन गेहूँ की खरीद की थी”.

अनुराग ने कहा की “कैश ट्रांसफर पर सवाल पूछने वालों ने कितने बैंक एकाउंट खुलवाए?” केन्द्रीय राज्य वित्त मंत्री ने जनधन खातों का जिक्र करते हुए बताया की “मोदी सरकार ने यह सुनिश्चित करने के लिए कि कैश ट्रांसफर के दौरान पूरा पैसा लाभार्थियों के खाते में ही जाए, मोदी सरकार ने 42 करोड़ जन धन एकाउंट खुलवाए”.

केन्द्रीय राज्य वित्त मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा की “अप्रैल 2021 में रिकॉर्ड तोड़ जीएसटी कलेक्शन रहा जो 1.44 लाख करोड़ रुपए था। यह अब तक का सबसे बड़ा कलेक्शन है और यात्री वाहनों की बिक्री, तेल खपत, स्टील उत्पादन और सीमेंट उत्पादन जैसे क्षेत्रों में भी वृद्धि देखने को मिली है”.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

बजट 2021-22 से मोदी सरकार करने वाली है किसानों का बड़ा फ़ायदा

By Sachin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *