गौतम
Advertisement

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर का भारत के विश्व कप जीतने के 10 साल बाद आया बड़ा बयान, उन्होंने कहा “भारतीय क्रिकेट के आगे बढ़ने का समय”.

वर्ष 2011 में 2 अप्रैल के दिन ही भारतीय क्रिकेट टीम ने दूसरी बार क्रिकेट के सबसे बड़े टूर्नामेंट यानि एक दिवसीय क्रिकेट विश्व कप को जीता. इसी जीत के साथ भारत ने कई सारे रिकार्ड्स अपने नाम कर लिए थे, जिसमें से सबसे प्रमुख था की खुद की धरती पर पहली बार विश्व कप जितने वाली टीम बनी थी भारत.

उस मैच में टीम के दिग्गज सलामी बल्लेबाजों की जोड़ी सचिन और सहवाग के जल्दी आउट होने के बाद टीम की पारी को गौतम गंभीर ने संभाला था. उस मैच में गंभीर की 97 रनों की शानदार पारी के बदोलत भारतीय टीम ने जीत का सहरा खुद के सर बांधा.

Advertisement

गौतम

गौतम गंभीर का आया बड़ा बयान

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार जीत के 10 साल पुरे होने के बाद गौतम गंभीर ने टीम ने कहा की “ऐसा नहीं लगता कि यह कल की बात है, कम से कम मेरे साथ ऐसा नहीं है, इसे अब 10 साल बीत चुके हैं, मैं ऐसा व्यक्ति नहीं हूं जो पीछे मुड़कर काफी अधिक देखता है”.

बयान को जारी रखते हुए उन्होंने कहा की “बेशक यह गौरवपूर्ण लम्हा था लेकिन अब भारतीय क्रिकेट के लिए आगे बढ़ने का समय है, अब समय आ गया है कि हम जल्द से जल्द अगला विश्व कप जीतें”.

गौतम गंभीर ने कहा “हम जीतने के लिए उतरे थे

भारतीय टीम के पूर्व क्रिकेटर के नय खिलाडियों को प्रेरित करने वाली बात कही, उन्होंने कहा की “लोगों को अतीत की विश्व कप की जीतों को लेकर अधिक उत्सुक नहीं होना चाहिए क्योंकि टूर्नामेंट में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया और ऐसा उन्होंने अपनी पेशेवर जिम्मेदारी के तहत किया”.

उन्होंने बयान को आगे बढ़ाते हुए कहा की “2011 में हमने ऐसा कुछ नहीं किया जो हमें नहीं करना चाहिए था, हमें विश्व कप में खेलने के लिए चुना गया था, हमें विश्व कप जीतना था, जब हमें चुना गया तो हमें सिर्फ टूर्नामेंट में खेलने के लिए नहीं चुना गया, हम जीतने के लिए उतरे थे”

इसे भी पढ़ें:-

भारत ने अंग्रेजों को सभी सीरीजों में मात, तीसरे ODI में शानदार जीत

Advertisement

By Sachin

2 thoughts on “गौतम गंभीर का आया बड़ा बयान, भारतीय क्रिकेट के आगे बढ़ने का समय”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *