नरसिंहानंद
Advertisement

महंत यति नरसिंहानंद की धमकी देने वाले गिरोह को हिंदू नेता उदयवीर शास्त्री ने करारा जवाब दिया है, उन्होंने कहा “कल के कायर, आज के मुस्लिम”.

नरसिंहानंद के पक्ष में उदयवीर शास्त्री का बड़ा बयान

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार हाल ही में डासना शिव शक्ति मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती जी का गला काटने की धमकी देने वाले गिरोह के सामने हरियाणा में पानीपत के यमुनानगर में हिंदू कार्यकर्ता आ खड़े हुए, दोनों दलों में जमकर विवाद हुआ और एक दुसरे के विरुद्ध जबर्दस्त नारे बाजी हुई व धार्मिक नारे भी लगाए गए. बाद में पुलिस ने आके मामले को बड़ी मुश्किल से शांत करवाया.

Advertisement

विवाद में सक्रिय रहे स्थानीय हिंदू नेता उदयवीर शास्त्री ने एक मीडिया की संस्था से बातचीत करते हुए कहा की “जो कल के कायर थे, वो आज के मुस्लिम हैं और जो आज के कायर हैं, वो भी भविष्य के मुस्लिम होंगे”. उन्होंने ये भी कहा की “ये धरती बलिदान माँगती है और महाराणा प्रताप व छत्रपति शिवाजी से लेकर भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव तक, लाला लाजपत राय व सरदार पटेल से लेकर लाल बहादुर शास्त्री तक सभी ने इस धरती के लिए बलिदान दिया”.

यति नरसिंहानंद सरस्वती को कही ये बातें

एक विशेष मीडिया संस्था से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा की “डासना वाली घटना के बारे में उन्हें और उनके साथियों को जो जानकारी प्राप्त हुई है, उससे पता चलता है कि उनकी स्थिति ठीक वैसी ही है जैसी लंका में विभीषण की थी और हिन्दू एक शांत समुदाय है, लेकिन साथ ही चौपाई ‘अतिशय रगड़ करे जो कोई अनल प्रकट चन्दन से होई’ का जिक्र भी किया, जिसका अर्थ है कि ज्यादा रगड़ने से चन्दन से भी अग्नि प्रज्वलित हो जाती है”.

इस बयान को जारी रखते हुए उन्होंने कहा की “महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती के साथ भी यही होता है, उन्हें परेशान किया जाता रहा और क्षेत्र में हिन्दू बहन-बेटियों के साथ छेड़छाड़ हुआ और जब वहाँ के विधायक असलम चौधरी के बेटे को छेड़छाड़ के आरोप में पीटा गया था, इस तरह बार-बार हुई घटनाओं के कारण वो आहत हो गए और उन्होंने इस्लाम को सही से जानने का प्रयास किया”.

उन्होंने कहा की “इस्लाम के अध्ययन से महंत यति ने जो भी पाया, वे वही बोल रहे हैं, अगर उससे किसी को तकलीफ है तो वह त्रुटि बताए और उसकी निंदा करे, लेकिन ये ‘सर तन से जुदा’ की बात क्यों? हलाल करने की बातें क्यों? और ये देश संविधान से चलता है, न्यायालय है, ऐसे में ये चीजें कहाँ से लाई जा रही हैं?”.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

यति नरसिंहानंद को धमकी देने वाली गैंग और हिंदू कार्यकर्ताओं का हुआ आमना-सामना

Advertisement

By Sachin

3 thoughts on “नरसिंहानंद के पक्ष में उदयवीर शास्त्री ने कहा “कल के कायर, आज के मुस्लिम””

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *