मोदी
Advertisement

अश्लील कंटेंट दिखाने वाले OTT प्लेटफार्म की एजेंसियों को झटका, मोदी सरकार ने अमेजन प्राइम और नेटफ्लिक्स जैसी सभी संस्थाओं पर स्ट्राइक कर दी है.

बता दें की पिछले कुछ समय से भारत के अंदर OTT प्लेटफोर्म पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाने और अश्लील कंटेंट दिखाने का मानो फेशन चल पड़ा हो.

मोदी

Advertisement

बता दें की थोड़े टाइम पहले अमेजन प्राइम पर सैफ अली खान की वेब सीरिज तांडव रिलीज हुई, जिसमे भगवान शिव और प्रभु श्री राम पर मजाक बनाकर अभद्र भाषा का भी प्रयोग किया गया था और लोगों ने इसका खूब विरोध भी किया, बाद में अमेजन प्राइम ने माफ़ी भी मांगी.

मोदी सरकार ने नय नियम जारी किए

भारत की केंद्र सरकार ने अब OTT प्लेटफर्म की सभी संस्थाओं के लिए नय नियम लागु कर दिए हैं, केंद्र सरकार के इन नय नियमों का लक्ष्य लोगों को पारंपरिक मीडिया जैसे न्यूज चैनलों व समाचार पत्रों के समान ही ऑनलाइन कंटेंट मुहैया करवाना है.

नय नियमों जानकारी देते हुए अधिसूचना में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने कहा, ‘भारत सरकार ने सूचना प्रौद्योगिकी (मध्यवर्ती संस्थाओं हेतु दिशा-निर्देश और डिजिटल मीडिया आचार संहिता) नियम 2021 को 25.02.2021 को अधिसूचित किया है, नियमों का भाग III डिजिटल समाचार प्रकाशकों और ऑनलाइन क्यूरेट सामग्री (ओटीटी प्लेटफॉर्म) के प्रकाशकों से संबंधित है, नियमों के तहत प्रकाशकों को आचार संहिता का पालन करना, शिकायत निवारण तंत्र स्थापित करने और भारत सरकार को कंटेंट संबंधित सभी जानकारी देनी होगी’.

मोदी सरकार के मंत्रियों ने किए ऐलान

बता दें मोदी सरकार के मंत्रियों ने 25 फरवरी को प्रेस कोंफ्रेंस करके इन नय नियमों का ऐलान किया. केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा की “सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का भारत में कारोबार करने के लिए स्वागत है, लेकिन उन्हें भारत का संविधान और कानून मानना होगा”. सुचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने भी ट्वीट करके इसकी जानकारी दी.

इन्हें भी पढ़ें:-

‘तांडव’ का तांडव खत्म, मेकर्स ने मांगी माफ़ी और विवादित दृश्य हटाए

हिंदू देवी-देवताओं का अपमान करने वाली वेबसीरिजों को तगड़ा झटका, कोर्ट ने ‘तांडव’ पर

Advertisement

By Sachin

3 thoughts on “मोदी सरकार की अमेजन प्राइम पर स्ट्राइक, आचार संहिता का करना पड़ेगा पालन”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *