तिरंगे
Advertisement

दिल्ली में 26 जनवरी के दिन लाल किले के सामने राष्ट्र घ्वज तिरंगे के सामने खुद झंडा फहराने वाले जुगराज सिंह के परिवार को सम्मान दिया गया है.

नवंबर 2020 से नय कृषि कानून के विरुद्ध शुरू हुआ किसान आंदोलन अब तक रुका नहीं है. किसान संगठनों ने आज के दिन यानि 26 मार्च को भारत बंद का आवाहन किया है, इससे पूर्व में भी किसानों के दो बार देश भर के कई क्षेत्रों में भारत बंद किया है.

तिरंगे

Advertisement

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार हाल ही में पंजाब में अमृतसर के हरमंदिर साहब में एक समारोह आयोजित किया गया, यह समारोह कथित तौर पर तो ‘26 जनवरी के दिन दिल्ली में ट्रैक्टर परेड के समय पुलिस की गोलियों से मारे गए नवरीत सिंह की याद में आयोजित किया गया था और यह आयोजन उन सभी किसानों को श्रद्धांजलि देने के लिए किया गया जिन्होंने आंदोलन में भाग लेते हुए अपनी जान गँवाई’.

तिरंगे के सामने फेहराया था खुद का झंडा

इस वर्ष के गणतन्त्र दिवस के अवसर पर किसानों ने राजपथ पर ट्रेक्टर परेड करने की जिद की और स्वीकृति भी प्राप्त कर ली, मगर ट्रेक्टर परेड के दौरान किसानों की भीड़ ने हिंसक रूप ले लिया और वह ट्रेक्टरों से बेरीकेट्स तोड़ते हुए लाल किले तक पहुंच गए, वहां जुगराज सिंह नामक युवक ने तिरंगे के सामने अपने खुद का धार्मिक झंडा फहरा कर पुरे देश को शर्मसार किया.

तिरंगे का अपमान करने वाले के परिवार को सम्मान

अमृतसर के हरमंदिर में आयोजित समारोह में हेरान करने वाली बात यह थी की देश के राष्ट्र ध्वज का अपमान करने वाले जुगराज सिंह के परिवार को सम्मानित किया गया, बता दें जुगराज के विरुद्ध दंगे करने और देशद्रोह जैसी धाराओं में केस दर्ज हैं, दिल्ली पुलिस ने 3 फरवरी को पूरे मामले में दीप सिद्धू, जुगराज सिंह और अन्य आरोपितों के ऊपर ईनाम की घोषणा की थी.

इसे भी पढ़ें:-

किसान फिर से दिल्ली जाएंगे और बेरीकेट्स तोड़ेंगे, धमकी के साथ भारतबंद का ऐलान

Advertisement

By Sachin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *