हनुमान
Advertisement

उज्जैन के बडनगर क्षेत्र में हनुमान जी की मूर्ति को क्षतिग्रस्त किया गया, बाद में हिंदू संगठनों ने कार्यवाही की मांग को लेकर बडनगर में चक्काजाम किया.

हनुमान

देश भर में जहां महाशिवरात्रि का महा पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा वहीं एक कस्बा ऐसा जहां ईश्वर को न्याय दिलाना ने लिए पुलिस के साथ कशमकश चल रही है, जी हां, हम बात कर रहे हैं मध्य प्रदेश राज्य के उज्जैन जिले के बडनगर क्षेत्र की, यहां पर हनुमान जी मूर्ति को क्षतिग्रस्त पहुंचाने वाले असामाजिक तत्वों पर कार्यवाही की मांग की जा रही है.

Advertisement

हनुमान जी की मूर्तियों को क्षतिग्रस्त किया

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बडनगर कस्बे में चार दिनों के भीतर ही हनुमान जी की दो मूर्तियों को अज्ञात लोगों द्वारा क्षतिग्रस्त किया गया. जिसके बाद से यहां का मौहोल गर्मा गया हैं. स्थानीय जनता में इस घटना को लेकर बहुत आक्रोश है. हिंदू समाजजनों ने घटना को लेकर पुलिस की लापरवाही को पूरी तरह से ज़िम्मेदार ठहराया है.

उनका कहना है की “5 मार्च को भी भगवान की मूर्ति को क्षतिग्रस्त किया गया था, यदि पुलिस द्वारा तब सख्त कदम उठाए जाते तो सोमवार की रात उसी काण्ड को दोहराया नहीं जाता”. गोरतलब है की सोमवार की रात कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा डायवर्शन रोड स्थित मंदिर की मूर्ति को क्षतिग्रस्त किया गया, लेकिन इससे पहले भीमराज बाग वाले सार्वजनिक नवग्रह मंदिर की मूर्ति को क्षतिग्रस्त किया गया था.

हनुमान मूर्ति क्षतिग्रस्त मामले में पुलिस की कार्यवाही

बडनगर में सोमवार रात मूर्ति के छेड़छाड़ के बाद हिंदू संगठनों ने पुलिस प्रसाशन के कार्य का विरोध किया और बडनगर में चक्काजाम करके दोषियों के खिलाफ़ कार्यवाही की मांग भी की, बता दें स्थानीय लोगों ने भी इस प्रदर्शन का समर्थन किया और पुलिस द्वारा चक्काजाम हटाने के बावजूद भी व्यापारियों ने अपनी दुकाने नहीं खोली.

जिससे बाद अब पुलिस ने मामले को गम्भीरता से लिया और लगभग एक दर्जन संदिग्ध आरोपियों को हिरासत में लिया है, जिनसे पुलिस लगातार पूछताछ कर रही और मामले की जांच में भी तेज़ी पकड़ ली है.

इसे भी पढ़ें:-

महाशिवरात्रि आज, देश और दुनिया भर में धूमधाम से मनाया जाता है पर्व

Advertisement

By Sachin

One thought on “उज्जैन में हनुमान जी की मूर्ति को क्षतिग्रस्त किया, भड़के हिंदू समाजजन”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *