Advertisement

योगी जी के मंत्री के बाद अब झारखंड हाई कोर्ट में लाउडस्पीकर से अजान और सड़क पर नमाज के विरुद्ध भाजपा नेता ने याचिका दायर की है.

देश भर के अलग अलग स्थानों और क्षेत्रों से लाउडस्पीकर से अजान के विरूद याचिकाओं का दौर थमने का नाम नहीं ले रही है. हाल ही सबसे पहले उत्तर प्रदेश में इलाहाबाद विश्वविद्यालय की वाइस चांसलर संगीता श्रीवास्तव ने इसके खिलाफ़ याचिका दायर की, उनका कहना था की लाउडस्पीकर के शौर से उनकी नींद खराब होती है.

झारखंड

Advertisement

इसके बाद गोवा में वरुण नामक इंजीनियर ने लाउडस्पीकर से अजान के खिलाफ़ शिकायत दर्ज करवाई और गोवा हाई कोर्ट में ये केस भी जीता, जिसके बाद कोर्ट ने पुलिस को सभी मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटवाने के आदेश दिए. वरुण के बाद उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला ने बलिया जिलाधिकारी को पत्र लिखकर मस्जिदों के लाउडस्पीकर से होने वाली अजान पर आपत्ति जताई.

झारखंड हाई कोर्ट में याचिका दर्ज

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उत्तर प्रदेश के बाद झारखंड के भाजपा नेता ने हाई कोर्ट में याचिका दायर कराई है, यह याचिका सड़कों पर नमाज पढ़ने और लाउडस्पीकर से अजान के खिलाफ़ दाखिल की गई है. याचिका करने वाले भारतीय जनता पार्टी के नेता अनुरंजन अशोक हैं.

झारखंड भाजपा नेता की दलील

भारतीय जनता पार्टी के नेता अनुरंजन अशोक ने कहा की “इस याचिका का किसी भी धर्म से कोई सम्बंध नहीं है अपितु ध्वनि प्रदूषण जैसी समस्या से लड़ने के लिए यह आवश्यक भी हो गया है, लाउडस्पीकर की आवाज 10 डेसीबल की सीमा के भीतर ही रहनी चाहिए मगर मस्जिदों से इसका लगातार उल्लंघन हो रहा है.

इसके अलावा याचिका में अशोक का यह भी कहना है की “सड़कों और सार्वजनिक स्थानों पर नमाज पढ़ने पर भी रोक लगाने चाहिए, एक कानून होना चाहिए जिसके तहत नमाज सिर्फ मस्जिद में पढ़ी जाए”.

इसे भी पढ़ें:-

गोवा में लाउडस्पीकर से अजान पर रोक, हाईकोर्ट ने जारी किए आदेश

Advertisement

By Sachin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *