महाकुंभ

महाकुंभ हिंदू समाज का सबसे बड़ा धार्मिक आयोजन माना जाता है. इन दिनों महाकुंभ हरिद्वार उत्तराखंड में आयोजित हो रहा है. महाकुंभ में अब तक करीब 10 लाख श्रद्धालु शामिल हो चुके है. महाकुंभ के इस आयोजन में अब यातायात व्यवस्था को दुरूस्त रखने के लिए आरएसएस के स्वयं सेवकों ने मोर्चा संभाल लिया है. आरएसएस के स्वयं सेवक महाकुंभ में करीब 45 से अधिक यातायात पॉइंट्स पर व्यवस्था को दुरूस्त रखने में पुलिस की मदद कर रहे है.

ये भी पढ़ें- भारत को इस्लामी मुल्क बनाना चाहते हैं सभी मुसलमान, अब हिंदू राष्ट्र घोषित करो –पीसी

आरएसएस के करीब 1500 से अधिक स्वयं सेवक इस महाकुंभ में निस्वार्थ भाव से अपनी सेवाएँ दे रहे है. पुलिस विभाग ने इन  स्वयं सेवको को एसपीओ नाम देकर व्यवस्था को दुरूस्त रखने के लिए तैनात किया है. महाकुंभ के हर चौराहे पर आरएसएस के 6 स्वयं सेवक पुलिस के चार जवानों के साथ तैनात रहते है.

महाकुंभ

आरएसएस के ये स्वयं सेवक सुबह जल्दी नाश्ता कर लेते है और दिन का खाना बांधकर साथ ले जाते है. उसके बाद पूरी मुस्तैदी से पुलिस के जवानों के साथ अपनी सेवाएँ देते है. उत्तराखंड के चमोली, टिहरी, पौड़ी मुनस्यारी, कुमाऊँ जैसी जगहों के स्वयं सेवक मैले में में अपनी सेवाएँ दे रहे है. महाकुंभ में कई जगहों पर तो पुलिस व अर्धसैनिक बलों से भी पहले आरएसएस के स्वयंसेवक व्यवस्था सँभाल रहे हैं.

आरएसएस के क्षेत्र प्रचार प्रमुख पदम सिंह कहते है जो लोग कहते है कि जो लोग आरएसएस पर सवाल उठाते है और कहते है कि आरएसएस क्या करता है. वो इस महाकुंभ स्वयं सेवको को देखकर ये जान सकता है कि आरएसएस एक ऐसे व्यक्ति का निर्माण करता है जो देश के लिए अपना सर्वस्व देने के लिए हरदम तैयार रहता है.

हरिद्वार शहर के अलावा  लक्सर, रुड़की, भगवानपुर, ऋषिकेश आदि कुंभ क्षेत्र में भी संघ के स्वयंसेवक पुलिस को यातायात व्यवस्था सँभालने में सहयोग कर रहे हैं. संघ के प्रांत शारीरिक शिक्षण प्रमुख ने बताया कि कार्यकर्ताओं को खाने, रहने. ड्यूटी पॉइंट तक आनेजाने सहित सभी प्रकार की चिंता संघ के स्थानीय कार्यकर्ता कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें- जनता ने केजरीवाल और उद्धव को जमकर लताड़ा, गंभीर चर्चा में की थी अजीबों गरीब हरकतें

By Sachin

One thought on “महाकुंभ में RSS ने संभाला मोर्चा, ऐसे पुलिस की मदद कर रहे स्वयंसेवक”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *