किसान आन्दोलन

किसान आन्दोलन कब तक खत्म होगा? यही सवाल आज हर कोई पूछ रहा हैं और जवाब किसी के पास नहीं हैं. लेकिन आज हुई सरकार और किसान के बीच हुई बातचीत में किसानों ने सरकार के कुछ प्रस्ताव मान लिए हैं.

किसान आन्दोलन

किसान आन्दोलन जल्द खत्म हो सकता है, क्योंकि आज की किसान और सरकार की वार्ता में किसानों ने सरकार द्वारा दिए गए कुछ प्रस्तावों पर सहमती दे दी हैं. केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के मुताबिक आज की वार्ता में किसानों को 50% मना लिया गया हैं. किसान और सरकार के बीच अब तक नए कृषि कानून को लेकर कई बार बातचीत या बैठक हो चुकी थी, लेकिन किसान सरकार के किसी भी प्रस्ताव से सहमत नहीं थे. आज की बैठक में किसानों ने सरकार द्वारा दिए गए कुछ प्रस्तावों पर सहमती दे दी हैं.

इन मुद्दों पर किसानों ने जताई सहमती

दिल्ली के विज्ञान भवन में किसान संगठनों और सरकार के बीच नए कृषि कानून को लेकर आज 7वें दौर की बातचीत हुई. जिसमें किसानों ने सरकार के प्रति थोड़ी सहमती जताई हैं. केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बैठक के बाद मीडिया को बताया की किसानों ने दो मुद्दों पर अपनी सहमती दे दी हैं.

किसान आन्दोलन

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा की ‘किसानों के समक्ष हमनें आज चार प्रस्ताव रखे थे, जिन पर किसानी संगठनों गहन विचार करके तीन प्रस्तावों को स्वीकार कर लिया हैं. पर्यावरण संबंधी आदेशों, बिजली बिल और पराली मुद्दे पर किसानों ने दे दी है सहमती.

एमएसपी पर अभी भी फंसा हुआ है मामला

आपको बता दें की जब से किसान आन्दोलन शुरू हुआ है किसानों ने मुख्य मुद्दा एमएसपी ही रखा हुआ हैं. जिस पर अभी भी मामला फंसा हुआ हैं. इस पर बात करते हुए कृषि मंत्री ने बताया की ‘हम किसानों के लिखित में देने के लिए तैयार है की एमएसपी नहीं हटाई जाएगी, एमएसपी वहीं रहेगी’. आपको बता दें की किसानों की भी पहले यही मांग थी की एमएसपी पर केन्द्र सरकार लिखित में देवें. अब जब सरकार ऐसा करने को तैयार है तो किसान भी आन्दोलन को रोकने के लिए तैयार हैं.

किसान आन्दोलन

आपको बता दें की 4 जनवरी को दोपहर 2:00 बजे किसान संगठनों और सरकार के बीच एक बार कृषि कानूनों को लेकर वार्ता होने वाली हैं.

यह भी पढ़ें :-

इंदौर में राम भक्तों पर मस्जिद से हुई पत्थर वर्षा, जानिए फिर क्या हुआ?

By Sachin

One thought on “किसान आन्दोलन जल्द हो सकता है खत्म, इन मुद्दों पर किसानों ने जताई सहमती”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *