अबू धाबी

जिस प्रकार अयोध्या में भगवान राम का भव्य मंदिर बन रहा है, उसी प्रकार युएई की राजधानी अबू धाबी में भी एक भव्य हिंदू मंदिर का निर्माण जोरों पर है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार संयुक्त अरब अमीरात यानि यूएई की राजधानी अबू धाबी में बीएपीएस स्वामीनारायण संस्था एक भव्य और सुंदर हिंदू मंदिर का निर्माण करवा रही है, इस मंदिर की आयु 1000 वर्ष अनुमानित की गई है यानि की एक हजार सालों तक मंदिर का कुछ नहीं बिगड़ेगा. इस मंदिर में किसी प्रकार स्टील, लोहे या उससे बनी सामग्री का नहीं बल्कि भारत की पारंपरिक मंदिर वास्तुकला के अनुरूप इसका निर्माण हो रहा है. मंदिर का प्रतीकात्मक वीडियो भी संस्था ने जारी किया है, आप भी देखिए:-

बताया जा रहा है की मंदिर के आभार का कार्य सम्पन्न हो चूका है और लगभग 2023 तक इसका निर्माण भी पूर्ण हो जाएगा. बीएपीएस मंदिर के प्रवक्ता ब्रह्मविहारी स्वामी ने कहा “अबू मुरीखाह स्थित मंदिर की भूमि पर बलुआ पत्थर की मोटी परत बिछाई गई है”. बता दें की मंदिर निर्माण के लिए भारत में 3,000 कारीगर दिन रात काम में लगे हुए हैं, जो मार्बल से नक्काशीदार चिह्न और मूर्तियाँ बना रहे हैं. इसके अलावा 10 देशों के 30 पेशेवर कारीगरों ने कई सॉफ्टवेयर का उपयोग कर मंदिर का 3D मॉडल बनाने के लिए 5,000 घंटे दिए. इसमें रामायण, महाभारत समेत हिंदू पुराणों के प्रसंगों से जुड़े चित्र होंगे.

गौरतलब है की मंदिर का निर्माण प्राचीन हिंदू शिल्प शास्त्र के मुताबिक किया जा रहा है. बीएपीएस के मुताबिक ‘इतिहास में यह पहली बार है कि एक पारंपरिक हिंदू मंदिर को पूरी तरह से डिजिटल रूप से तैयार किया गया है और साथ ही दबाव, तापमान और भूकंपीय घटनाओं का लाइव डेटा देने के लिए विभिन्न स्तरों पर 300 से अधिक सेंसर लगाए गए हैं’. प्रोजेक्ट मैनेजर टीनू साइमन ने एक बयान में बताया “जब हमने इस प्रोजेक्ट को शुरू किया, तो मैं वाकई में हैरान था क्योंकि खुदाई के स्तर तक पहुँचने से पहले ही हम ऊँचे चट्टान पर पहुँच गए थे. मैं 15 साल से अधिक समय से GCC में काम कर रहा हूँ और पहली बार मुझे इतनी अच्छी नींव इस लिमिट के भीतर मिली है”.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

राम मंदिर के गर्भगृह में जलाभिषेक के लिए 155 देशों से आया जल

By Sachin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *