आपातकाल

आज आपातकाल यानि emergency की 47वीं बरसी है, लेकिन आज भी देश इस काले दिन को नहीं भुला है और उसे याद आंसू भी बहाता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार भारत में आपातकाल 25 जून 1975 को लगा था। 25 जून के दिन को भारत के लोकतंत्र का काला दिन माना जाता है और उसके बाद से 2 साल तक का आपातकाल का सदस्य काले दिनों की तरह माने जाते हैं। नागरिक अधिकार छीन लिये गए थे। विपक्ष जेल में था। हर तरफ पुलिस राज था। संगीनों के साए में काम चल रहे थे।

आपको बताते चलें की प्रेस पर कड़ा नियंत्रण था, और सबकुछ स्क्रीनिंग के बाद ही छपता था। फिल्मों के प्रिंट जब्त कर लिये गए और भी बहुत कुछ इंदिरा गांधी की सरकार की सिफारिश पर राष्ट्रपति फखरुद्दीन अली अहमद ने देश पर आपातकाल लागू कर दिया था। खैर, 25 दिन अब भी आता है हर साल और हर बार लोग उस दिन को याद करते हैं, जब उनकी आजादी एक बार फिर से छीन ली गई थी।

इसी काले दिन को याद करते हुए सत्ताधारी पार्टी भाजपा के लगभग तमाम आलाधिकारियों इसे याद किया और कांग्रेस पर हमला भी बोला, केवल भाजपा ही नहीं भारत के बड़े-बड़े समाज सेवियों ने इस काले दिन को याद कर तत्कालीन प्रधान मंत्री इंदिरा गांधी पर हमला बोला। बताया यह भी जा रहा है की जब आपातकाल को घोषित किया गया था, तब देश भर में अजीब सा डर का माहौल भी था।

गौरतलब है की केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस पर ट्वीट करते हुए लिखा “1975 में आज ही के दिन कांग्रेस ने सत्तामोह में रातो-रात हर भारतीय के संवैधानिक अधिकारों को छीन आपातकाल थोपा व निर्दयता में विदेशी शासन को भी पीछे छोड़ दिया। इस तानाशाही मानसिकता के विरुद्ध लोकतंत्र की पुनर्स्थापना के महायज्ञ में अपना सर्वस्व अर्पण करने वाले सभी देशभक्तों को नमन।”

वहीं केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी कहा “47 साल पहले भारत में आपातकाल लागू करना देश के इतिहास का एक काला अध्याय है जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकेगा। इस दिन, सभी भारतीयों को न केवल लोकतंत्र की रक्षा करने के लिए प्रतिबद्ध होना चाहिए, बल्कि संविधान और इसके संस्थानों की गरिमा को बनाए रखने का संकल्प भी लेना चाहिए।”

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी आपातकाल पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट किया और लिखा “आज ही के दिन वर्ष 1975 में परिवारवादी संगठन ‘कांग्रेस’ ने देश पर ‘आपातकाल’ थोप कर भारत के गौरवशाली लोकतंत्र का गला घोंटने का कुत्सित प्रयास किया था। आपातकाल की कठोर यंत्रणाओं को सहन कर देश में लोकतंत्र बहाली के लिए संघर्ष करने वाले सभी लोकतंत्र सेनानियों को कोटिशः नमन। जय हिंद!”

इन सबके साथ-साथ भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने ट्वीट कर आपातकाल के काले सच का एक वीडियो शेयर किया, जिसे देखकर आत्मा रो उठती है। उन्हें लिखा “आपातकाल के काले दिनों में कांग्रेस पार्टी द्वारा हमारे देश की लोकतांत्रिक संस्थाओं को सुनियोजित और व्यवस्थित तरीके से नष्ट करने को कभी नहीं भुलाया जा सकेगा। आज हम उन महान नायकों को याद करते हैं जिन्होंने भारतीय लोकतंत्र और संवैधानिक मूल्यों की रक्षा के लिए लड़ाई लड़ी।”

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

अग्निपथ योजना से ‘हिंदू समाज का सैन्यीकरण’ करना चाहिए है मोदी सरकार: बड़ा खुलासा

One thought on “आपातकाल की 47वीं बरसी पर सामने आया एक वीडियो, कमजोर दिल वाले ना देखें”

Comments are closed.

%d bloggers like this: