ओडिसा के मंदिर

दिसंबर 2020 के अंत में आंध्रप्रदेश के एक मंदिर भगवान श्री राम की एक मूर्ति को तोड़ा गया था, अब ठीक उसी प्रकार का हमला ओडिसा के मंदिर की मूर्तियों पर हुआ है.

ओडिसा के मंदिर

घटना 2 जनवरी 2021 शनिवार देर रात की है जब कुछ अज्ञात बदमाशों ने ओडिसा के एक मंदिर में माता सरस्वती और माता लक्ष्मी की मूर्तियों को तोड़ दिया. ये वारदात राज्य के दक्षिणी क्षेत्र में आंध्र प्रदेश से सटे रायगढ़ जिले के हुकुमटोला गांव की बताई जा रही है. आपको बता दें की यह सारा इलाका मिशनरी गतिविधियों के लिए चर्चित है.

उपद्रवियों ने मूर्तियों को तोड़ा और छत्र चोरी किया

मीडिया की जानकारी के मुताबिक रविवार सुबह को ओडिसा के भगवान रामेश्वर महादेव मंदिर के पुजारी ने जब मंदिर के दरवाजे खोले तो देखा की मंदिर के वास्तुशिल्प और मूर्तियों के टुकड़े मंदिर के परिसर में फेंके हुए हैं, यह सब देखकर पुजारी ने इसकी जानकारी मंदिर प्रबंधन समिति को दी.

मंदिर प्रबंधन समिति ने मूर्तियाँ तोड़ने वाले उपद्रवियों पर आरोप लगाते हुए मीडिया को बताया की बदमाशों ने तो मंदिर के भगवान जगन्नाथ का एक छत्र और उनके कुछ गहने भी चोरी कर लिए. इसके अलावा उपद्रवियों ने मंदिर में रामेश्वर शैवपीठ के देवता की मूर्तियों को क्षतिग्रस्त कर दिया, मंदिर में माता सरस्वती, माता महालक्ष्मी और वृंदावती जी की भी मूर्तियाँ तोड़कर मंदिर के परिसर में फेंक दिया.

समिति ने पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करवाई

मंदिर प्रबंधन समिति ने घटना की जानकारी प्राप्त होते ही इसी विषय को लेकर मुनिगुड़ा पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई है, यह शिकायत मंदिर प्रबंधन समिति के सचिव पुरुषोत्तम जेना ने ही मुनिगुड़ा पुलिस स्टेशन में करवाई है.

स्थानीय लोगों ने पुलिस और कानून से मांग की है की उपद्रवियों को एसी करतूत के लिए कड़ी से कड़ी सजा दी जाए. घटना स्थल पर स्थित लोगों ने प्रसाशन पर आपत्ति जताते हुए कहा की रविवार की शाम तक मंदिर परिसर निरक्षण नहीं किया गया.

इसे भी पढ़ें:-

उपद्रवियों ने तोड़ी भगवान राम की 400वर्ष पुरानी मूर्ति, आंध्रप्रदेश सरकार पर उठे सवाल

Leave a Reply

%d bloggers like this: