राष्ट्रपत्नी

‘लड़की हूँ, लड़ सकती हूँ’ का नारा देने वाली कांग्रेस खुद महिलाओं का सम्मान नहीं जानती, हाल ही में कांग्रेस नेता ने माननीय राष्ट्रपति को ‘राष्ट्रपत्नी’ कह दिया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अधीर रंजन चौधरी ने बुधवार को एक निजी चैनल के कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रपति मुर्मू को ‘राष्ट्रपत्नी’ कहकर संबोधित किया था। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से अपने विवादित बयान के लिए लिखित में माफी मांगी है। उन्होंने राष्ट्रपति को लेटर लिखकर कहा कि मेरी जुबान फिसलने की चूक को माफ करें। साथ में उन्होंने भरोसा दिलाया कि वो जुबानी चूक ही थी।

आपको बताते चलें की इस मामले में बीते दिन अधीर रंजन चौधरी ने भी बयान दिया था कि वे राष्ट्रपति मुर्मू से माफी मांगेंगे। लेकिन इन पाखंडियों से माफी नहीं मांगेंगे। अधीर रंजन चौधरी का कहना था कि हिंदुस्तान के राष्ट्रपति हमारे लिए राष्ट्रपति ही हैं। एक बात मुंह से निकल गई। जुबान फिसल गई। लेकिन बीजेपी राई का पहाड़ बना रही है। इस विवाद पर अधीर रंजन चौधरी ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि मैंने राष्ट्रपति से मिलकर माफी मांगने के लिए समय मांगा था।

वहीं अब आखिरकार कांग्रेस नेता को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से माफ़ी मांगनी पड़ी है, चौधरी ने एक पत्र लिखकर माफ़ी मांगी। उन्होंने इस पत्र में लिखा “मैं आपकी स्थिति का वर्णन करने के लिए गलती से गलत शब्द का इस्तेमाल करने के लिए खेद व्यक्त कर रहा हूं। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि यह जुबान से फिसल गया था। मैं माफी मांगता हूं और आपसे इसे स्वीकार करने का अनुरोध करता हूं।”

गौरतलब है कि बीते दिन संसद में इस मुद्दे पर पूरे दिन बबाल मचा। भाजपा नेता स्मृति ईरानी ने कांग्रेस अध्यक्ष को भी सवालों के घेरे में लिया और पार्टी से भी माफी की मांग की। स्मृति ईरानी ने कांग्रेस अध्यक्ष से कहा था कि सोनिया गांधी, आपने द्रौपदी मुर्मू के अपमान को मंजूरी दी। सोनिया जी ने सर्वोच्च संवैधानिक पद पर महिला के अपमान को मंजूरी दी।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

देश को मिला 15वां राष्ट्रपति, एक आदिवासी से राष्ट्रपति तक संघर्षों से भरा रहा मुर्मू का सफ़र

%d bloggers like this: