विधानसभा

चुनाव समाप्त होने के बाद उत्तर प्रदेश विधानसभा का सत्र हाल ही में शुरू हुआ है, लेकिन सदन चुनावी मंचों की तरह ही गर्म हो चुका है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उत्‍तर प्रदेश में विधान सभा का सत्र चल रहा है। ऐसे में बुधवार को दोपहर में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Deputy CM Keshav Prasad Maurya) और अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के बीच तीखी बहस हो गई। इस बहस के दौरान सदन में तू-तड़ाक जैसे शब्‍द भी इस्‍तेमाल किए गए। अखिलेश यादव की बेहूदा प्रतिक्रिया पर खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) को भी बोलना पड़ा।

आपको बताते चलें की UP विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोल रहे थे। इस दौरान उन्होंने योगी सरकार को ‘इतिहास की सबसे विफल सरकार’ बताया। अखिलेश के इसी बयान का जवाब देने के लिए डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य खड़े हुए। अखिलेश यादव सदन में खड़े होकर सरकार पर हमला बोल रहे थे। इसी दौरान उन्होंने कहा कि “ये PWD मंत्री रहे हैं, ये भूल गए। इनके जिले के मुख्‍यालय की सड़क किसने बनाई? बताइए… बताइए।” इसपर विधान सभा अध्‍यक्ष ने टोका कि आपस में बहस मत कीजिए।

वहीं अखिलेश के इसी बयान ने सदन के माहौल को गर्म कर दिया और फिर केशव प्रसाद मौर्य ने पलटवार किया। उन्‍होंने कहा “2027 में चुनाव आएगा। मैं यह मानता हूं कि फिर कमल खिलेगा। “साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि आपका अभी कोई भविष्‍य नहीं है लेकिन सड़क किसने बनाई है, मेट्रो किसने बनाया है, एक्‍सप्रेसवे किसने बनाया है… जैसे लगता है आपने सैफई की जमीन बेचकर यह सब बनवा दिया है।”

बस यही बात अखिलेश यादव को मानो किसी कांटे की तरह चुभ गई और उन्होंने सदन की मर्यादा को भंग करते हुए बीच में ही खड़े होकर तुम-तड़ाक और गाली-गलोच शुरू कर दिया। उन्होंने खड़े होकर मौर्य से कहा “तुम अपने… तुम अपने घर के… तुम अपने पिताजी से पैसा लाते हो बनाने के लिए। तुमने राशन बांटा तो पिताजी दिए? बप्‍प… बप्‍प.. बप्‍प… बप्‍प..”

गौरतलब है की सदन का माहौल बिगड़ता देख सीएम योगी ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी, उन्होंने कहा “किसी बात पर हमारी सहमति और असहमति हो सकती है। हम बाद में इसमें करेक्शन करा सकते हैं, लेकिन तू-तू, मैं-मैं शब्द का प्रयोग नहीं किया जाना चाहिए।” सीएम योगी ने कहा “एक घंटे से अधिक हमने नेता प्रतिपक्ष को सुना। हमने उनकी बात सुनी।”

मुख्यमंत्री ने आगे कहा “इस सदन में सरकार के उप मुख्‍यमंत्री अपनी बात रख रहे हैं। बीच में रनिंग कॉमेंट्री का मतलब क्‍या है? और दूसरा, एक सम्‍मानित नेता के खिलाफ असभ्‍य शब्‍दों का प्रयाग हो, यह ठीक नहीं है।” उन्होंने कहा “सवाल सैफई का नहीं है। हम लोग जो विकास कार्य करा रहे हैं या आपकी सरकार के समय जो कार्य हुए होंगे, वह हमारी ड्यूटी थी। सरकार, सरकार होती है और हर सरकार को अपनी उपलब्धि को कहने का अधिकार है।”

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

हिंदू धर्म पर अखिलेश ने दिया विवादित बयान, कहा “रात के अंधरे में रखी गई थीं मूर्तियां”

One thought on “यूपी विधानसभा में अखिलेश ने दिखाया अपना रंग, डिप्टी सीएम को तूँ-तूँ कहकर देने लगे गाली”

Comments are closed.

%d bloggers like this: