अशोक गहलोत

कॉंग्रेस शासित राज्य राजस्थान के मुख्य मंत्री अशोक गहलोत भाजपा और आरएसएस को एक नया चेलेंज दिया है और उनकी गौभक्ति को भी बताया एक नाटक।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हिंदू राष्ट्र के मुद्दे पर भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसवेक संघ पर बड़ा हमला बोला है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि ये लोग देश को हिंदू राष्ट्र बनाना चाहता है लेकिन देश के गरीब को रोटी चाहिए, खाली पेट हिंदू राष्ट्र का नारा नहीं चलता है। लेकिन ये हर बार हिंदू राष्ट्र का माहौल बनाकर चुनाव जीत जाते हैं।

सीएम गहलोत ने आगे कहा “इन्हें घमंड आ गया है। जनता इनका घमंड उतारेगी। अगर इन्हें हिंदू राष्ट्र बनाना है तो पहले हिन्दू समाज में छुआछूत और कुरीति जातिवाद को दूर करना चाहिए। उन्हें गरीब दलित के घर जाना चाहिए।” आपको बताते चलें कि देश भर में ट्विटर, फ़ेसबुक और इंस्टाग्राम जैसे कई सोशल मीडिया प्लेटफर्म पर बहुत जोरों-शोरों से हिन्दू राष्ट्र की मांग उठ रही हैं।

मुख्य मंत्री अशोक गहलोत ने अपने बयान में आगे कहा “ये लोग गौमाता, हिंदुओं के नाम पर नाटक करते हैं। लोगों को भड़काकर वोट लेते हैं और चुनाव जीत जाते हैं। समझना पड़ेगा, वे अगर ईमानदारी से देश की भलाई करना चाहते हैं, हिंदू हित की बात करना चाहते हैं तो मेरा मानना है कि वह पहले छुआछूत मिटाने का अभियान शुरू करें। खुद शेड्यूल्ड कास्ट के घरों में जाएं, दलितों के यहां जाकर उनके साथ बैठकर उनकी थाली में खाना खाएं।”

गहलोत ने आगे कहा “नाटक करना बंद करें। OBC-SC-ST में भेदभाव खत्म करें, सब हिंदुओं को एक समान करें। तब मालूम पड़े कि इनकी नीयत हिंदुओं के लिए है, वरना खाली गौमाता की बात कर लो, हिंदुओं की बात कर लो। तो भड़का रहे हो, वोट ले रहे हो, चुनाव जीत रहे हो। दुनिया का इतिहास गवाह है कि जहां-जहां धार्मिक रूप से राजनीति हुई, चुनाव जीते जाते हैं, उसके बाद में वहां पर हिटलरशाही होती है।”

CM का कहना है कि देश में हिंदुओं में कुरीति और छुआछूत को खत्म करने के मामले में हम उनके साथ हैं लेकिन संघ ने देश में ये माहौल बना दिया है कि भाजपा हिंदुओं की पार्टी है और कांग्रेस मुसलमानों की पार्टी है। लेकिन कट्टरता से किसी भी देश का भला नहीं हुआ है। गहलोत ने कहा कि ये वही स्वयंसेवक संघ है जिस पर सरदार पटेल ने बैन लगाया था। लेकिन बाद में राजनीतिक तौर पर सक्रिय नहीं होने की शर्त के साथ बैन हटा था। लेकिन आज देश को ये किस दिशा में ले जा रही है ये सबके सामने हैं। Read more…

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

राजस्थान में अवैध खनन के कारण संत की आत्मदाह की कोशिश, फिर जो हुआ…

%d bloggers like this: