मंदिर

बंगाल में लॉकडाउन के समय में एक माता के मंदिर की 30 बीघा भूमि पर विशेष समुदाय के लोगों ने कब्ज़ा कर वहां पर एक कब्रिस्तान का निर्माण कर दिया.

भारत के पश्चिम बंगाल में इस समय चुनावी माहौल गर्म है, लेकिन इसके अलावा हेरान करने वाली खबर निकलकर सामने आ रही है. खबर बंगाल के नदिया से हैं, यहां के देवी माँ के मंदिर की 30 बीघा जमीन पर समुदाय विशेष के लोगों ने जबरदस्ती कब्ज़ा कर लिया है.

ये कब्ज़ा इन लोगों ने तब किया जब पूरा देश और दुनिया कोरोना वायरस से लड़ रही थी और जब लॉकडाउन लगा हुआ था तब इन्होंने इस मंदिर की भूमि पर कब्ज़ा कर लिया था. बस इतना ही इन्होंने कब्ज़े के बाद इस जमीन पर कब्रिस्तान भी बना दिया.

मंदिर की जमीन पर बवाल

एक समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार इस जमीन को लेकर दो अलग अलग समुदायों के बिच बहस हो रही है, दरअसल हिंदुओं का कहना है की ये जमीन माता के मंदिर की हैं और जब लॉकडाउन था तो इन्होंने इस पर कब्ज़ा कर लिया और मुस्लिम समुदाय का कहना है की यह जमीन हमारी है.

गोरतलब है एक पत्रकार द्वारा जमीन के कागज मांगे गए तो मुस्लिम समुदाय के लोगों के पास जमीन का कोई कागज नहीं मिला, इससे अटकलें ये लगाई जा रही हैं की ये जमीन सच में देवी माता के मंदिर की ही हैं और इस पर कब्ज़ा करके ये कब्रिस्तान बनाया गया है.

मंदिर के लिए प्रसाशन पर आरोप

इस मंदिर की भूमि के लिए हिंदू समाजी लोगों ने प्रसाशन पर मिलीभगत का आरोप लगाया है और यह दावा किया की यह जमीन सरकारी और सार्वजनिक है मगर विशेष समुदाय के लोगों ने इस पर कब्रिस्तान बना लिया है. स्थानीय लोगों ने भी यह माना की यहां पहले कोई कब्रिस्तान नहीं था.

इसे भी पढ़ें:-

हिंदू युवती से सोनू बनकर फराह फह्जान ने किया बलात्कार, लव-जिहाद मामले की पूरी रिपोर्ट

%d bloggers like this: