राकेश टिकैत

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत का ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है, इस बार उन्होंने कहा “कुछ लोगों के लिए भिंडरावाले संत है”.

कथित किसान आंदोलन के मुख्य चहरे बने हुए राकेश टिकैत ने एक बार अपनी जुबान से जहर उगला है, इस बार उन्होंने देश के टुकड़े करने के इरादे रखने वाले जरनैल सिंह भिंडरांवाले का समर्थन करने वालों को जायज करार दिया है. उन्होंने मीडिया के साथ बातचीत करते हुए कहा “एक बच्चे को किसी की तस्वीर वाली टी-शर्ट पहने देखा गया था. कुछ लोग भिंडरावाले को संत मानते हैं, जबकि सरकार उन्हें आतंकवादी मानती है”.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ये बयान राकेश टिकैत ने एक प्रेस कोंफ्रेंस में दिया, जहां वे लखीमपुर हिंसा में मृत किसान की दूसरी बार की पोसमार्टम रिपोर्ट पर बात भी करते हैं. बता दें की इसी लखीमपुर हिंसा की एक तस्वीर वायरल हो रही है जिसमें एक युवक ने भिंडरावाले की तस्वीर लगी टी-शर्ट पहन रखी है. गौरतलब है की 3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी में भारतीय जनता पार्टी की गाड़ी के काफ़िले पर जोरदार हमला किया गया था और भारी पत्थराव भी हुए, इस हिंसा में 9 लोगों की मौत हुई.

बता दें की जरनैल सिंह भिंडरांवाले देश को दो भागों में बांटने की चाह रखने वाला व्यक्ति था. भिंडरांवाले का जन्म 12 फरवरी 1947 को हुआ था और अपने जीवन काल में उसने केवल भारत को तोड़ने की ही इच्छा रखी, आज भी उसकी पहचान एक आतंकवादी के रूप में होती है. विक्की पीडिया की जानकारियों के मुताबिक अगस्त 1982 में भिंडरांवाले और अकाली दल ने ‘धर्म युद्ध मोर्चा’ शुरू किया। इसका उद्देश्य आनंदपुर प्रसाव में व्यक्त किए गए उद्देश्यों को पाना था. 6 जून 1984 को भारतीय सेना के साथ हुए मुकाबले में मारा गया, उस भीषण गोलाबारी में हरमंदिर साहिब को बहुत ही नुकसान पहुंचा.

इसे भी जरूर ही पढिए:-

भाई के स्टिंग ऑपरेशन के बाद बिलबिलाए राकेश टिकैत: देखें पूरा वीडियो

Leave a Reply

%d bloggers like this: