Bihar

बिहार (Bihar) की उप मुख्यमंत्री रेणु देवी ने जनसंख्या नियंत्रण कानून पर कहा की “महिलाओं से ज्यादा पुरुषों को जागरूक करने की ज़रूरत”.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उत्तर प्रदेश में जनसंख्या नियंत्रण पर कानून की हवा Bihar तक पहुंच चुकी हैं. इसी क्रम में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक सवाल का जवाब देते हुए कहा था की “इसके लिए महिलाओं का शिक्षित होना ज्यादा ज़रूरी है”. इस पर उनके सामने डिप्टी CM आ गई हैं. उप मुख्य मंत्री रेणु देवी ने कहा की “जनसंख्या नियंत्रण के लिए महिलाओं से ज्यादा पुरुषों को जागरूक किए जाने की ज़रूरत है”.

इस विषय पर दोनों के बयानों की तुलना करें तो CM नीतीश कुमार ने कहा था की “अगर महिलाएं पढ़ी लिखी होंगी तो उनके अंदर ज्यादा जागृति होगी और प्रजनन दर अपने आप कम हो जाएगी”. वहीं उनके इस बयान के विपरीत रेणु देवी ने कहा की “पुरुषों के भीतर नसबंदी को लेकर डर की स्थिति है और वो नसबंदी नहीं कराना चाहते”. उन्होंने कहा की “राज्य के कुछ क्षेत्रों में आज भी पुरुषों की नसबंदी दर केवल मात्र 1% ही हैं”.

अपने बयान में रेणु देवी ने आगे कहा की “अक्सर यह देखा गया है कि बेटे की चाहत में पति और ससुराल वाले महिला पर अधिक बच्चे पैदा करने का दबाव बनाते हैं. इससे परिवार का आकार बड़ा होता चला जाता है. ये ज़रूरी है कि जनसंख्या नियंत्रण के लिए पुरुषों एवं महिलाओं के बीच भेदभाव समाप्त किया जाए. तभी हम इसमें सफल होंगे”. गौरतलब है की नीतीश कुमार ने तो इस कानून को बिल्कुल गैर जरूरी है, बल्कि इस कानून का रेणु देवी ने स्वागत किया है और कहा की “बिहार में प्रजनन दर वहाँ से भी अधिक है, इसीलिए यहां भी इसी तरह का कानून बनना चाहिए”.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

VHP: बिहार में बढ़ रहा लव जिहाद और धर्मांतरण

Leave a Reply

%d bloggers like this: