बीकेयू

भारतीय किसान यूनियन यानि की बीकेयू में अब फुट पड़ चुकी और किसान आंदोलन के चहरे बने राकेश टिकैत और BKU अध्यक्ष नरेश टिकैत को संगठन से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार भारतीय किसान यूनियन में दरार पड़ गई है। यूनियन के एक धड़े ने संगठन के विभाजन का दावा करते हुए कहा है कि राकेश टिकैत और नरेश टिकैत को हटाते हुए बीकेयू का नया प्रमुख राजेश चौहान को बनाया गया है। नरेश टिकैत को अध्यक्ष पद से हटा दिया गया है और बीकेयू के प्रवक्ता राकेश टिकैत को भी।

आपको बताते चलें की देश के जाने-माने किसानों के इस संघ में फूट पड़ने की खबर लखनऊ में बीकेयू के संस्थापक महेंद्र सिंह टिकैत की पुण्यतिथि पर सामने आई है। राजेश चौहान ने संवाददाताओं से कहा कि टिकैत बंधु संगठन का राजनीतिकरण करने की कोशिश कर रहे हैं, जिसे किसान कभी स्वीकार नहीं करेंगे। इस कारण के सामने आते ही लोग यकीन नहीं कर पा रहे हैं की संगठन की दिशा बदल चुकी है।

गौरतलब है की इस निष्कासन पर चौहान ने की हम एक गैर राजनीतिक संगठन हैं और रहेंगे। बीकेयू से निकाले जाने के सवाल पर बीकेयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत और राकेश टिकैत के भाई ने कहा कि किसी को भी हटाने की ताकत सिर्फ जनता के पास है। लखनऊ में हुई बैठक के सवाल पर उन्होंने कहा कि कोई भी खुद को प्रधानमंत्री घोषित कर सकता है। वहीं, राकेश टिकैत ने नए संगठन के सवाल पर कहा कि सबकुछ सरकार का करा-धरा है। सरकार के दवाब में आकर संगठन के लोग अलग हुए हैं।

वहीं बताया यह भी जा रहा है की बीकेयू के राष्ट्रीय महासचिव युद्धवीर सिंह ने कहा कि कोई भी फैसला राष्ट्रीय निकाय की बैठक में ही लिया जा सकता है। राष्ट्रीय निकाय के सदस्य टिकैत के पैतृक गांव मुजफ्फरनगर के सिसोली गांव में आयोजित कार्यक्रम में मौजूद थे। यहां भी महेंद्र सिंह टिकैत की पुण्यतिथि पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया था।

कुछ खबरों के मुताबिक युद्धवीर सिंह ने कहा कि लखनऊ में बैठक करने वाले राजेश चौहान भी उनके संगठन के सदस्य हैं। लेकिन चौहान संगठन में राष्ट्रीय स्तर के पदों के बारे में फैसला नहीं कर सकते। इसके लिए एक प्रक्रिया बनी हुई है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि सरकार संगठन और उसके लोगों को विभाजित करने की कोशिश कर रही है।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

दशहरे को PM मोदी का पुतला फूंकेंगे राकेश टिकैत, लखीमपुर हिं’सा को जायज बताया

%d bloggers like this: