राजस्थान

एक तरफ जहां कॉंग्रेस ‘भारत जोड़ो’ अभियान में लगी है, वहीं राजस्थान में कॉंग्रेस पार्टी को लेकर कुछ अलग ही दृश्य देखने को मिल रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ‘जब आग घर में लगी हो तो सबसे पहले अपना घर बचाना चाहिए, न कि इधर-उधर भटना चाहिए।’ लेकिन कॉन्ग्रेस नेतृत्व को ये समझा पाना कॉन्ग्रेसियों के बस की बात ही नहीं। हालाँकि, कहावत कॉन्ग्रेस के वर्तमान परिदृश्य पर बिल्कुल भी सटीक बैठ रही है। आगामी लोकसभा चुनाव में अपने लिए जमीन तलाश रहे कॉन्ग्रेस नेता राहुल गाँधी ‘भारत जोड़ो’ यात्रा कर रहे हैं। जबकि राजस्थान में उनकी ही पार्टी की सरकार टूटती दिख रही है। देखें वीडियो:-

अजेमर में कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के अस्थि विसर्जन कार्यक्रम में राज्य सरकार के मंत्री अशोक चांदना (Ashok Chandna) को चप्पल और जूतों का सामना करना पड़ा। राजस्थान में अशोक गहलोत और सचिन पायलट की बिल्कुल भी बन रही है और ये जगजाहिर है। गहलोत सीएम की कुर्सी नहीं छोड़ना चाहते और पायलट मुख्यमंत्री बनने का सपना संजोए हुए हैं। ताजा मामला कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के अस्थिविसर्जन कार्यक्रम का है।

जिसमें उन पर जूते फेंके गए। अपमान के इस घूट को वो शायद पी भी लेते, लेकिन सचिन पायलट जिंदाबाद के नारों ने उन्हें अंदर से हिला दिया। फिर क्या था उनका कट्टर कॉन्ग्रेसी जाग गया। उन्होंने सचिन पायलट को धमकी देते हुए ट्वीट किया,  “मुझ पर जूता फेंकवा कर सचिन पायलट यदि मुख्यमंत्री बने तो जल्दी से बन जाए क्योंकि आज मेरा लड़ने का मन नहीं है। जिस दिन मैं लड़ने पर आ गया तो फिर एक ही बचेगा और यह मैं चाहता नहीं हूँ।”

पुष्कर मेला ग्राउंड में आयोजित अस्थि विसर्जन कार्यक्रम में हजारों की संख्या में लोग जमा थे। उसी दौरान ये घटना हुई। उस वक्त स्टेज पर चांदना भाषणत दे रहे थे। लेकिन लोगों के विरोध के कारण उन्हें बीच में ही भाषण को रोकना पड़ा। हालाँकि, इस तरीके के अपमान को सहने वाले वो इकलौते नेता नहीं हैं। उनसे पहले गहलोत सरकार की एक और मंत्री शकुंतला रावत का भी यही हाल हुआ था। उन्हें लोगों ने भाषण देने से भी रोक दिया था।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

VIDEO: राजस्थान के सांसद ने संयम खोते हुए एक युवक को जड़ा थप्पड़, फिर जो हुआ…

%d bloggers like this: