असम

केंद्र सरकार द्वारा BSF के क्षेत्राधिकार को बढ़ाने के निर्णय को असम के CM सरमा ने इसे राष्ट्रीय सुरक्षा और राष्ट्रीय हित को मजबूत बताया है.

भारत की केंद्र सरकार ने पंजाब, पश्चिम बंगाल और असम जैसे राज्यों में भारतीय सेना के क्षेत्राधिकार को बढ़ाते हुए सेना को 50 किलोमीटर तक कार्यवाई करने का स्वतंत्र अधिकार प्रदान कर दिया है. मालूम हो की पिछले लंबे समय से विदेशी घुसपैठ के निरंतर मामले सामने आ रहे थे, इसलिए सरकार ने यह कदम उठाया है. इस पर जहां पंजाब जैसे राज्य में विरोध हो रहा तो वहीं असम ने इस निर्णय का विनम्र स्वागत किया है और यहां के CM बिस्वा ने सराहा है.

रिपब्लिक भारत की रिपोर्ट के मुताबिक केंद्र सरकार ने बीएसएफ के कानून में संशोधन कर पंजाब, पश्चिम बंगाल और असम में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर इसके क्षेत्राधिकार का विस्तार किया है. गृह मंत्रालय के आदेशानुसार बीएसएफ को अब भारत की सीमाओं से लगे पंजाब, पश्चिम बंगाल और असम में 50 किलोमीटर के दायरे में कार्रवाई करने का अधिकार दिया गया है, जो इन राज्यों में पहले केवल 15 किमी तक था. इस अधिकार के तहत बीएसएफ को अब 50 किलोमीटर के बड़े क्षेत्र में तलाशी लेने, जब्ती करने और गिरफ्तार करने की शक्ति मिलेगी. बता दें की मंगलवार को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इस संबंध में आधिकारिक आदेश जारी किया.

गौरतलब है की देश हित में लिए गए इस निर्णय का पंजाब में विरोध हो रहा है और असम में समर्थन. मुख्य मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा ‘असम बीएसएफ के परिचालन क्षेत्राधिकार के विस्तार का स्वागत करता है. राज्य पुलिस के समन्वय से यह कदम सीमा पार तस्करी और अवैध घुसपैठ को हराने के लिए एक मजबूत निवारक के रूप में काम करेगा. यह राष्ट्रीय सुरक्षा और राष्ट्रीय हित को मजबूत करता है”.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

असम CM हेमंत बिस्वा ने कहा “भारत में बैन हो एमनेस्टी इंटरनेशनल”

By Sachin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *