मनीष सिसोदिया

दारू घोटाले में घिरने के बाद से ही दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) और आम आदमी पार्टी (AAP) रोज-रोज नए शिगूफे छोड़ती रहती है।

राजधानी दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) और आम आदमी पार्टी न्यू एक्साइज पॉलिसी केस यानी की शराब घोटाले मामले में फंसी हुई है। जिसके चलते वह रोज़ नए नए हथकंडे आज़मा रहे हैं। इसी घटना में सीबीआई (CBI) पूछताछ के बाद सिसोदिया ने दावा किया हैं कि उन पर आम आदमी पार्टी छोड़ने का दबाव डाला गया हैं। वहीं सीबीआई (CBI) ने कहा पूछताछ वैध तरीके से हुई हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार दिल्ली उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को 17 अक्टूबर 2022 को सीबीआई (CBI) ने अपने ऑफिस बुलाया था पूछताछ के लिए। सीबीआई (CBI) ने उनसे करीब 9 घंटे तक पूछताछ की। परंतु इसके बाद सिसोदिया ने सीबीआई (CBI) पर बेहद गंभीर आरोप लगाया हैं, उन्होंने कहा कि सीबीआई (CBI) ने मुझ पर आम आदमी पार्टी छोड़ने का दबाव बनाया हैं। सुनिए उनका बयान:-

बीजेपी (BJP) कर रही है सीबीआई (CBI) का गलत प्रयोग

दिल्ली उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मीडिया को बयान देते हुए कहा, “शराब घोटाले की बात कही जाती हैं। आज जाकर देखा कि कोई घोटाला है ही नहीं ये पूरा केस ही फर्जी है। उन्होंने कहा कि 9 घंटे वहां रहने में पता चल गया कि यह दिल्ली में ‘ऑप्रेशन लोटस’ को कामयाब करने के लिए की गई साजिश हैं। सीबीआई (CBI) जैसी एजेंसी का गलत प्रयोग करके बीजेपी (BJP) दबाव बनाने का काम करवा रही है।

आम आदमी पार्टी छोड़ दो, सीएम(CM) बनायेंगे

मनीष सिसोदिया ने अपना बयान जारी रखते हुए आरोप लगाए “मुझसे कहा गया कि आप आम आदमी पार्टी(AAP) छोड़ दो और साथ ही उन्होंने मुझे बताया सत्येंद्र जैन पर कौन से सच्चे केस हैं? उन्हें झूठे केसों में फसाकर जेल में डाला गया था। आपको ये लोग सीएम (CM) भी बनायेंगे। मैंने कहा कि ऐसे दबाव में, मैं नहीं आने वाला हूं।

हमने कोई लालच नहीं दिया: सीबीआई

वहीं सीबीआई (CBI) ने मनीष सिसोदिया के आरोपों को पूरी तरह से खारिज कर दिया है। सीबीआई(CBI) ने बयान देते हुए कहा कि मनीष सिसोदिया को पूछ्ताछ के दौरान पार्टी छोड़ने की धमकी नहीं दी गयी है और ना ही सीबीआई (CBI) ने उन्हें मुख्यमंत्री बनाने का लालच दिया हैं। आगे उन्होंने बयान जारी रखते हुए कहा कि सिसोदिया से केवल FIR में लगे आरोपों और जाँच में किए गए एकत्र सबूतों के आधार पर ही पूछताछ हुई है। आगे उनसे इस मामले पर जाँच जारी रहेगी।

गौरतलब है कि दिल्ली उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को पूछताछ पर बुलाए जाने के बाद। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उनकी तुलना क्रांतिकारी शहीद भगत सिंह से की थी। जिस पर नाराज़गी जताते हुए भगत सिंह के परिवारिक सदस्य हरभजन एस दत्त और बीजेपी(BJP) ने इसपर कड़ा विरोध जताया और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से बयान वापिस लेने और माफ़ी मांगने को अपील की हैं।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

सीएम केजरीवाल ने मनीष सिसोदिया तुलना ‘भगत सिंह’ से की, फिर जो हुआ….

%d bloggers like this: