ऋषि सुनक

ब्रिटेन में ऋषि सुनक की हार के बाद भारत में बैठे वामपंथीयों ने खूब जश्न मनाया और उनके गौ-पूजन वाले वीडियो को लेकर हिंदू धर्म का मजाक भी उड़ाया।

इसे भी जरूर देखें:-

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ब्रिटेन में प्रधानमंत्री पद के लिए हुए चुनावों में लिजा ट्रस ने भारतीय मूल के ऋषि सुनक को हराकर प्रधानमंत्री पद का चुनाव जीत लिया है। देश की बेइज्जती और हार पर अक्सर नगाड़े बजाने वाले भारत के वामपंथियों और कट्टरपंथी इस्लामिस्टों के तो मजे आ गए। सुनक के हार की खबर सुनते ही ये गिरोह अचानक से ट्विटर पर एक्टिव हो गया। देखें गौपूजन का वीडियो:-

इन वामपंथियों ने गौ पूजन करने वाले सुनक का मजाक उड़ाया। वामपंथियों, कथित लिबरलों और कट्टरपंथियों की बाँछें खिल गई हैं। अब वामपंथी सुनक की गौ माता की पूजा को नाटक करार देते हुए ये कह रहे हैं कि अगर वो ऐसा नहीं करते तो शायद ये चुनाव जीत सकते थे। माइक्रो ब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर पर ये शेयर किया जा रहा है कि ब्रिटेन में गाय की पूजा करने के कारण ही सुनक को हार मिली है।

हिंदूफोबिया से सने ट्विटर यूजन अशोक स्वेन ने कहा कि इस तरह के हथकंडों को अपनाने के बावजूद सुनक हार गए और लिज ट्रुस नई प्रधानमंत्री बन गईं। ज्ञान देते हुए स्वेन ने कहा कि खुद के साथ ईमानदार रहना जरूरी है। क्योंकि ब्रिटेन उत्तर प्रदेश नहीं है। इसी क्रम में एक अन्य यूजर ने सुनक को लेकर आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल करते हुए कहा, “ये जरूर दुख में होगा कि काश ये थोड़ा गौ मूत्र पी लेता तो शायद ब्रिटेन का प्रधानमंत्री बन जाता।”

इसी तरह से एक वामपंथी ने कहा कि ये गोबर और गौमूत्र पीना भूल गया था। गौरतलब है कि ब्रिटेन की 56वीं पधानमंत्री लिज ट्रस के क्वीन एलिजाबेथ ने स्कॉटलैंड के बाल्मोरल कासल में पीएम पद की शपथ दिलाई। लिज ट्रस वहीं महिला हैं, जिन्होंने साल 1994 में क्वीन एलिजाबेथ का विरोध करते हुए कहा था कि वो इस बात में बिल्कुल भी यकीन नहीं करती हैं कि जन्म से ही कोई शासक होता है। उन्होंने क्वीन एलिजाबेथ का विरोध भी किया था।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

मैं एक हिंदू हूं और हिंदू होना ही मेरी पहचान, यही मेरा धर्म है: ऋषि सुनक का बयान वायरल

%d bloggers like this: