झारखंड

झारखंड के गढ़वा में 75% मुस्लिम होना का दावा कर लोगों ने स्कूल के आंतरिक नियमों को ही बदलना शुरू कर दिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार झारखंड के गढ़वा में बने एक स्कूल में मुस्लिम समुदाय द्वारा स्कूल प्रिंसिपल पर इस्लामी नियम लागू करवाने के लिए दबाव बनाने का मामला सामने आया है। घटना गढ़वा के मध्य विद्यालय की है। वहाँ स्कूल प्रिंसिपल युगेश राम के ऊपर क्षेत्र की बहुल आबादी ने स्कूल प्रार्थना बदलने का दबाव बनाया है। आप भी देखिए पूरा वीडियो:-

बताया जा रहा है की मुस्लिम समुदाय ने प्रिंसिपल को कहा कि क्षेत्र में उनकी आबादी 75% है। इसलिए नियम भी उन्हीं के हिसाब से होंगे। समुदाय के दबाव के चलते स्कूल की प्रार्थना बदल गई है। पहले यहाँ ‘दया का दान विद्या का…’ प्रार्थना करवाई जाती थी। हालाँकि अब ‘तू ही राम है तू ही रहीम’ प्रार्थना स्कूल में होने लगी है। इसके साथ स्कूल में बच्चों को हाथ जोड़ कर प्रार्थना करने से भी मना कर दिया गया है।

वहीं इस स्कूल के प्रिंसिपल ने कहा है कि लंबे समय से मुस्लिम समुदाय के लोग 75 फीसदी आबादी का हवाला देकर स्कूलों के नियमों में बदलाव का दबाव बना रहे थे। कुछ समय पहले इन लोगों ने मिलकर स्कूल में प्रार्थना का ढंग बदलवा दिया। उन्होंने इसकी जानकारी कोरवाडीह पंचायत के मुखिया और शिक्षा विभाग के अधिकारियों को दी है।

आपको बताते चलें की जिला शिक्षा पदाधिकारी कुमार मयंक भूषण ने घटना पर संज्ञान लेते हुए बताया कि विद्यालय में प्रार्थना सभा को अपने हिसाब से कराने को लेकर विद्यालय के शिक्षकों को मजबूर किए जाने की सूचना उनके पास आ गई है। वह इसकी जाँच करवा रहे हैं। सरकार आदेश की नाफरमानी करने की इजाजत किसी को नहीं दी जाएग।

गौरतलब है की प्रशासन तक बात पहुँचने के बाद गाँव के मुखिया शरीफ अंसारी ने कहा कि उन्हें इस मामले में हाल में (सोमवार को) पता चला है। अब वह विद्यालय प्रबंधन समिति एवं ग्रामीणों की बैठक कर समाधान करना चाहते हैं। हालाँकि रिपोर्ट बताती है कि जब गढ़वा के मुस्लिम युवक स्कूल में आकर हंगामा करते थे तो इस बारे में मुखिया शरीफ अंसारी को जानकारी दी गई थी।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

झारखंड में ओवैसी का फूलों के बजाए ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारों से हुआ स्वागत: देखें पूरा वीडियो

One thought on “झारखंड के एक स्कूल में बदलवाई प्रार्थना, बच्चों को हाथ जोड़ने से भी रोका: देखें पूरा वीडियो”

Comments are closed.

%d bloggers like this: