China

दुनिया भर में फैले घातक वायरस की जड़ China ‘2015’ से कोरोना को वेपन बनाना चाहता था, ‘द वीकेंड ऑस्ट्रेलियन’ ने किया बड़ा खुलासा.

कोरोना वायरस लगभग पिछले डेढ़ साल से दुनिया में कोहराम मचा रहा है. बता दें की दुनिया भर में अब तक 15 करोड़ 60 लाख 77 हजार 747 कुल कोरोना के मामले दर्ज किए गए हैं, इनमें से यदि मौत के आंकड़े की बात करें तो कोरोना के केहर से दुनिया भर 32 लाख 56 हजार 34 लोगों ने मौत को गले लगा लिया है. अब इसे ‘द वीकेंड ऑस्ट्रेलियन’ नामक मैग्जीन ने इसे चीन की ओर से सुनियोजित करार दिया.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मैग्जीन ने ये दावा 6 साल पहले 2015 के चीनी वैज्ञानिकों के रिसर्च पेपर के अनुसार कहा की SARS कोरोना वायरस के जरिए China दुनिया के खिलाफ जैविक हथियार बना रहा था. ‘द अननैचुरल ओरिजिन ऑफ सार्स एंड न्यू स्पीसीज ऑफ मैन-मेड वायरस टू जेनेटिक बायो वेपन’ वाले टाइटल के इस पत्र में चीनी वैज्ञानिकों और स्वास्थ्य अधिकारियों ने भविष्यवाणी की थी कि किस तरह से तीसरे विश्व युद्ध में ‘जैविक हथियारों’ का इस्तेमाल किया जाएगा.

बता दें की रिसर्च पेपर की हेरत करने वाली इन्फोर्मेशन आज से 6 साल पहले की है यानि 2015 की है. ऑस्ट्रेलियाई रणनीतिक संस्थान के कार्यकारी निदेशक पीटर जेनिंग्स ने डॉक्यूमेंट्स में ‘स्मोक गन’ के रूप में इस रहस्य को पूरी तरह से उजागर किया है.

पीटर जेनिंग्स ने कहा की “मुझे लगता है कि यह महत्वपूर्ण है क्योंकि इससे यह स्पष्ट होता है कि China के वैज्ञानिक कोरोना वायरस के अनेक रूपों को मिलिट्री वेपन के तौर पर इस्तेमाल करने के बारे में सोच रहे हैं, वे यह सोच रहे हैं कि इसे कहाँ डिप्लॉय किया जाय”. उन्होंने यह भी बताया की “इसे इस बात की संभावनाओं के बारे में जानने के लिए शुरू किया गया था कि वायरस का सैन्य इस्तेमाल किया जा सकता है, अगर इसका फैलाव होता है तो इससे चीन को मदद मिलेगी, लेकिन हम इसके उलट हैं”.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

China: चीन में बेजुबान जानवरों की मौत की वजह बना ‘Blind Box’

One thought on “China ‘2015’ से कोरोना को वेपन बनाना चाहता था, जानिए पूरा रिपोर्ट”

Leave a Reply

%d bloggers like this: