प्रशासक समिति

भारत में बहुत से नाजुक मुद्दों पर कोई बोलना नहीं चाहता, लेकिन प्रशासक समिति ने समाज सुरक्षा के लिए ये बिड़ा उठा लिया।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार धार्मिक संगठन प्रशासक समिति (रजि. एकात्मता एंड सोशल वेलफेयर सोसाइटी) ने कल 10 जुलाई 2022 रविवार को माइक्रो ब्लॉगिंग वेबसाईट ट्विटर पर ‘#PancharPutramKabhiNaMitram‘ नाम से हैशटैग चलाया था। इस मोहीम को लाखों लोगों का समर्थन भी संगठन को मिला। प्रशासक समिति (Prashasak Samiti) की ओर से दिए गए एक आधिकारिक स्टेटमेंट में यह कहा गया है की इस ट्रेंड के माध्यम से लोगों को यह समझाना कि कट्टरपंथियों से दोस्ती करना उनसे रिश्ते निभाना कितना घातक होता है।

आपको बताते चलें की इस ट्रेंड लगभग सवा एक लाख से भी ज्यादा लोगों ने हिस्सा लिया और इस के माध्यम समाज को एक आइना दिखाने की कोशिश भी की।

इस ट्रेंड के विषय में प्रशासक समिति के मार्गदर्शक मंडली के वरिष्ठ सदस्य मनीष जी भारद्वाज ने जानकारी दी की बीते लंबे समय से ये चला आ रहा है की कोई कट्टरपंथी आपका पड़ोसी, आपका दोस्त होने के बावजूद भी आपके साथ विश्वास घात करके आपकी जान का दुश्मन बन जाता है। उन्होंने आगे कहा “ओर एक खास प्रकार के लोग ही ये काम करते हैं, ये भी हम लोगों ने देखा और सब को यह भी दिख भी रहा है।”

मनीष जी ने ये स्वीकार भी किया की इस ट्रेंड का उद्देश्य लोगों को जागरूक करना हैं और उन्हें ये भी बताना की कट्टरपंथी कभी आपका सगा नहीं होगा, उन्होंने कहा “हाल ही में हुई घटनाएं जैसे की उमेश कोल्हे के 16 साल पुराने दोस्त ने उन्हें धोखा दिया”

उन्होंने आगे कहा “इसके अलावा जो उदयपुर की घटना हुई, उसमें भी अगर आप देखेंगे तो जो जान पहचान वाले हैं जो पड़ोसी हैं उन्होंने ही कन्हैया लाल की हत्या का षड्यन्त्र रचा।” मनीष जी ने कहा की ओर भी कई सारे इस तरह के केस हैं और इस ट्रेंड के माध्यम से हमने वो भी दिखाया है।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

हिंदुओं के लिए प्रशासक समिति ने फिर उठाया खड़क, भारी संख्या में जुड़े

लोग

%d bloggers like this: