दलित

राजस्थान कॉंग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा जालोर मृतक दलित बच्चे के घर गए, लेकिन अपने साथ बिसलेरी पानी की बोतल भी लेकर पहुंचे।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार राजस्थान के जालौर में दलित छात्र की मौत के बाद राजनीति गरमाई हुई है। जालोर का सुराणा गाँव इस समय राजनीतिक अड्डा बनता जा रहा है। इस बीच कॉन्ग्रेस के राजस्थान चीफ गोविंद सिंह डोटासरा के दलित परिवार से मुलाकात के दौरान बोतल से पानी पीने पर सोशल मीडिया पर नया विवाद खड़ा हो गया है।

प्राप्त जानकारियों के हवाले से सोशल मीडिया पर एक फोटो वायरल हो रहा है। जिसमें कॉन्ग्रेस के राजस्थान चीफ दलित परिवार के घर पानी पीने के लिए बिसलेरी की बोतल का इस्तेमाल कर रहे हैं। वहीं भाजपा नेता व राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा की पत्नी पूर्व विधायक गोलमा देवी ने भी पीड़ित के घर जाकर परिजनों से मुलाकात की।

वहीं इस दौरान कहा जा रहा है कि गोलमा देवी ने घर के लोटे से ही पानी पिया। जिसके बाद दोनों नेताओं के फोटो की तुलना करते हुए सोशल मीडिया पर टिप्पणियाँ की जा रही है। इस फोटो के वायरल होने के बाद शोक-भेंट ने अब सोशल मीडिया पर नए विवाद को जन्म दे दिया है। सोशल मीडिया पर प्रदेश कॉन्ग्रेस अध्यक्ष की खूब किरकिरी हुई है।

आपको बताते चलें कि वायरल तस्वीर में जहाँ कॉन्ग्रेस प्रदेशाध्यक्ष के पास में रखी हुई बिसलेरी पानी की बोतल दिखाई दे रही है, वहीं दूसरी ओर गोलमा देवी के आगे रखा पानी के लोटे की तस्वीरें वायरल हो रही है। लोग डोटासरा की सोशल मीडिया पर खिंचाई कर रहे हैं और गोलमा देवी की खूब तारीफ हो रही है। वहीं कुछ लोग तो यह भी मानने लगे हैं कि कॉंग्रेस केवल राजनीति करने वहाँ जाती है।

ट्विटर पर एक युवक ने दोनों तस्वीरों को शेयर करते हुए लिखा, “गुलाम गिरी छोड़िए, फर्क समझिए… गोलमा देवी दलित के घर की मटकी का पानी पी सकती है, लेकिन गोविंद सिंह डोटासरा को दलित के घर जाने पर दुकान की बोतल का पानी चाहिए, क्योंकि दलित के घर का पानी पीने से वो अपवित्र हो जाएँगे। आपकी राय कुछ भी हो, लेकिन ये तस्वीरें तो यही बयान कर रही है।”

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

घिनौना वीडियो: स्वतंत्रता दिवस पर राजस्थान के सरकारी स्कूल में परोसी गई अफ़ीम, बच्चों के सामने…

One thought on “दलित के घर बिसलेरी लेकर पहुंचे कॉंग्रेस प्रदेशाध्यक्ष, देखिए दोनों तस्वीरों में अंतर!”

Comments are closed.

%d bloggers like this: