हरिद्वार में कुम्भ की समाप्ति वाली घोषणा के बाद राम भक्तों को भी रामनवमी पर अयोध्या आने से किया मना, कोरोना के कारण लिया गया निर्णय.

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में सबसे बड़े पर्व यानि रामनवमी के महामेले को रद्द कर दिया गया है, बता दें ऐसा निर्णय कोरोना को देखते हुए लिया गया है. मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कोंफ्रेंस अयोध्या के संतों से विकास भवन में वार्ता करी, जिसके बाद संत समाज ने राम भक्तों से अपील की है कि वे रामनवमी के अवसर पर अयोध्या न आएँ और अपने घरों में पूजा – अर्चना करें.

रामनवमी

कोरोना के कारण रामनवमी मेला रद्द

भारत में कोरोना इस समय तांडव मचा रहा है, मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इसी कारण अयोध्या में रामनवमी मेला रद्द किया गया. मणिराम छावनी के उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास ने कहा कि कोरोना संक्रमण की स्थिति भयावह होती चली जा रही है, ऐसे में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बात हुई है.

तीरथ सिंह ने कहा “कुम्भ की तुलना मरकज से नहीं की जा सकती”

उन्होंने आगे कहा की “मुख्यमंत्री ने आग्रह किया है कि इस बार रामनवमी मेला के लिए श्रद्धालु अयोध्या ना आएँ और अपने घरों में ही रहकर भगवान का जन्मोत्सव मनाएँ, कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सभी उपायों को अपनाएँ, क्योंकि जीवन की रक्षा ही परम धर्म है”.

रामनवमी मेले पर जिलाधिकारी का स्पष्टीकरण

वहीं जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने बताया की “कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए अयोध्या के धार्मिक स्थलों पर श्रद्धालुओं की भीड़ नही होने देंगे, पाँच से ज्यादा श्रद्धालु धार्मिक स्थलों पर नहीं रह सकते हैं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संतों के साथ वीसी कर निर्णय लिया है, राम नवमी के दौरान अयोध्या में बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक लगेगी, जरूरत पड़ी तो सीमाएँ भी सील हो सकती हैं”.

उन्होंने आगे कहा की “अयोध्या में जो लोग बाहर से आएँगे, उनका कोविड टेस्ट होगा, रिपोर्ट नेगेटिव होने पर ही प्रवेश मिलेगा, राम नवमी पर मेला नहीं लगेगा क्योंकि भीड़ नहीं इकट्ठी करनी है, साधु-संत मंदिरों में रामलला का जन्मोत्सव मनाएँ, अयोध्या में नाइट कर्फ्यू पर विचार चल रहा है.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

कुंभ पर कांग्रेसी नेता ने फैलाया झूठ,लोगो ने लगा दी क्लास

By Sachin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *