IAS

कोलकता में फर्जी IAS अधिकारी के खिलाफ़ हाई कोर्ट में CBI जांच की मांग को लेकर याचिका दर्ज, शुभेंदु ने TMC पर लगाए साजिश के गंभीर आरोप.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकता में फर्जी IAS अधिकारी पर CBI जांच की मांग को लेकर याचिका दर्ज हुए है. दरअसल कोलकाता के कसबा में इस फर्जी IAS अधिकारी देबांजन देब ने कोरोना वैक्सीन के शिविर लगवाए और नकली वैक्सीन की भी खबरें भी सामने आई. अब इस मामले पर संदीपन दास नामक एक वकील ने हाई कोर्ट में याचिका दायर कर CBI की निष्पक्ष जांच की मांग करी हैं.

बता दें की 26 जून 2021, शनिवार को पुलिस ने इस फर्जी IAS अधिकारी देबांजन देब के कुछ सहयोगियों को भी हिरासत में लिया था. इस मामले पर पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने मीडिया को बयान दिया की “देब के दो सहयोगी कोलकाता नगर निगम केएमसी के नाम से आरोपित द्वारा खोले गए बैंक खाते के हस्ताक्षरकर्ता थे. देब के साथ काम करने वाला तीसरा आरोपित शिविर में काफी सक्रियता से हिस्सा ले रहा था, जहाँ कई लोगों को नकली टीके की खुराक दी गई थी”.

इस मामले पर भारतीय जनता पार्टी के नेता और नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र से विधायक शुभेंदु अधिकारी के भी ट्विट कर इसमें TMC की साजिश बताई है, उन्होंने कहा की “पश्चिम बंगाल सरकार और सत्ताधारी पार्टी ने केंद्र को फँसाने के लिए एक बड़ी साजिश रची है. वे विवादित पहचान वाले लोगों को शिविर आयोजित करने में मदद कर रहे हैं, जहाँ नरेंद्र मोदी सरकार को बदनाम करने के लिए नकली टीके दिए गए थे. यदि किसी टीके का लोगों पर प्रतिकूल असर पड़ता है तो टीएमसी नकली टीके उपलब्ध कराने के लिए केंद्र को दोषी ठहराएगी। यह एक बड़ी साजिश है. सीबीआई जैसी बड़ी एजेंसी ही सच्‍चाई सामने ला सकती है”.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

RSS ने बंगाल हिंसा को बताया सुनियोजित, निंदा करते हुए कार्रवाई की करी मांग

By Sachin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *