दिल्ली

देश की राजधानी दिल्ली बोर्डर पर 100 दिनों से धरने पर बैठे किसान आंदोलनकारियों ने अब यहां पक्के मकानों का निर्माण कार्य शुरू कर दिया है.

दिल्ली

भारत की केंद्रीय सरकार द्वारा नवंबर 2020 में लागु किए गए नय कृषि कानून के विरोध में सड़कों पर उतरे किसान आंदोलनकारी अक्सर मीडिया का ध्यान अपनी ओर खींचने के लिए नय नय पेंतरे आजमाते दिखाई पड़ते हैं, इसी कर्म में इस बार उन्होंने प्रदर्शन कर रहे स्थान पर अवैध तरीके से पक्के मकानों का निर्माण शुरू कर लिया है.

दिल्ली के सिंधु बोर्डर पर काम शुरू

मीडिया जानकारियों के अनुसार किसानों ने इस बार खुद को लोगों की नजर में लाने के लिए दिल्ली के सिंधु बोर्डर पर अवैध तरीके से पक्के मकानों का काम शुरू कर दिया, किसानों ने सिंधु बोर्डर के अलावा टिकरी बोर्डर पर भी यही काम शुरू करवाया था. किसानों ने इसके लिए बाहर से मिस्त्रियों का भी इंतजाम किया है और इन मकानों में इस्तेमाल होने वाली इंटों का प्रबंध भी बाहर से ही किया गया है.

गोरतलब है की पहले ये लोग यहां पर केवल टेंटों में अपना गुजरा करते थे और अब इन्हें यहां पर पक्के मकानों की सुविधा भी चाहिए, इस मुद्दे पर सफाई देते हुए इनका मानना है की सर्दियों के समय बॉर्डर पर किसानों ने प्लास्टिक के टेंट बनाए थे मगर गर्मियों में उनमे तपिश होने के कारण बैठा नहीं जा सकता और इसके अलावा किसानों ने छप्पर बनाने के लिए गांव वाली घास भी मंगवाई है.

दिल्ली पुलिस की कारवाई

सिंधु बोर्डर और टिकरी बोर्डर पर हो रहे अवैध पक्के मकानों के निर्माण कार्य को दिल्ली पुलिस ने रुकवा दिया है. दरअसल नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानि NHAI और कुंडली नगर पालिका ने इस अवैध निर्माण की शिकायत दर्ज करवाई, FIR के बाद जवाबी कार्यवाही करते हुए पुलिस ने मकानों के निर्माण को तत्काल रुकवाया.

इसे भी पढ़ें:-

किसान आंदोलन के नाम पर हो रही है डिजिटल हैकिंग, जाने बचाव के रास्ते

One thought on “दिल्ली में किसानों ने शुरू अवैध पक्के मकान का कार्य, FIR के बाद काम रुकवाया गया”

Leave a Reply

%d bloggers like this: