भाजपा

ज्ञानवापी विवाद से जुड़ी बड़ी खबर सामने आई है, दरअसल भाजपा की ओर से मांग की गई है की ज्ञानवापी में मुस्लिमों की एंट्री बंद हो और शिवलिंग की सुरक्षा भी बढ़ाई जाए।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार केंद्रीय सत्ताधारी नरेंद्र मोदी की पार्टी भाजपा के नेता व पूर्व राज्यसभा के सांसद ने हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में कहा “कोर्ट में इस केस की सुनवाई होती रहेगी लेकिन सबसे पहले ज्ञानवापी में मुस्लिमों की एंट्री बैन कर देनी चाहिए।” दरअसल ये मांग करने वाले बीजेपी नेता कोई ओर नहीं बल्कि विनय कटियार है, जो की राम मंदिर आंदोलन के अगुवा नेताओं में से एक रहे हैं।

आपको बताते चलें की राम मंदिर आंदोलन के अगुवा नेताओं में से एक रहे विनय कटियार (Vinay Katiyar) ने कहा कि वहां पर जितनी जल्द हो सके मुस्लिम लोगों को हटाने का आदेश जारी करने के साथ-साथ शिवलिंग की सुरक्षा बढ़ाई जानी चाहिए। इस मामले को लेकर जो काशीवासी ऐसी मांगों को लेकर आंदोलन चला रहे हैं हम उन्हें हरसंभव सहयोग करेंगे।

विनय कटियार ने कहा “वाराणसी में हिंदुओं के प्रतीकों से छेड़छाड़ की कोशिश हुई। ज्ञानवापी में हिंदुओं के प्रतीक चिन्ह मिटाने की कोशिश की गई। वहीं जिसने शिवलिंग को काटने की कोशिश की थी वो पकड़ा गया है।” उन्होंने यह भी कहा “ज्ञानवापी में मुसलमानों के प्रवेश पर रोक लगनी चाहिए। विनय कटियार का सनसनीखेज दावा ये भी है कि ज्ञानवापी मस्जिद में शिवलिंग को नुकसान पहुंचाया गया है। इस मामले को लेकर पुलिस ने एक आदमी को गिरफ्तार भी किया है।”

गौरतलब है की जमीयत-उलमा-ए-हिंद की देवबंद में विशाल सभा के दौरान मौलाना महमूद मदनी ने कहा “आग को आग से नहीं बुझाया जा सकता। मुसलमानों के सब्र का इंतहान लिया जा रहा है। हम लोग मुश्किल हालात में हैं। चाहे कुछ हो जाए मैं ईमान पर समझौता नहीं करूंगा।” बताया यह भी जा रहा है की जमीयत से जुड़े 5 हजार मौलाना मुस्लिम बुद्धिजीवी शामिल होने पहुंचे हैं। वहीं दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट में एक नई याचिका दायर की गई है जिसमें मांग की गई है कि देश में 100 साल से ज्यादा पुरानी मस्जिदों का सर्वे हो।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

ज्ञानवापी मस्जिद में हुई माँ श्रृंगार गौरी की पूजा, वीडियो में हुए माता के अद्भुत रूप के दर्शन

%d bloggers like this: