गांधी गोडसे एक युद्ध

एमके गांधी और नाथुराम गोडसे पर बनी फिल्म गांधी गोडसे एक युद्ध (Gandhi Godse Ek Yudh) का टीजर रिलीज कर दिया गया है। डेढ़ मिनट के इस वीडियो को देखने के बाद आप भी सोच में पड़ जाएंगे।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार फिल्म गांधी गोडसे एक युद्ध (Gandhi Godse Ek Yudh) 27 दिसंबर को जहां इस फिल्म का मोशन पोस्टर रिलीज हुआ था। वहीं 2 जनवरी को इसका टीजर आ गया है। 1 मिनट 32 सेकेंड में आपको घंटे भर की पूरी फिल्म समझ आ जाएगी और देखने का भी मन कर जाएगा। फिल्म को लेकर तरह-तरह के अन्य कई कयास भी लगाए जा रहे हैं। आप भी देखिए टीजर:-

आपको बताते चलें कि ‘गांधी गोडसे-एक युद्ध’ (Gandhi Godse Ek Yudh) के टीजर वीडियो की शुरुआत में बताया जाता है कि दोनों ही हस्ती (एमके गांधी और गोडसे) पर गई गंभीर आरोप लगाए गए हैं। गांधी की जहां गोडसे द्वारा ह’त्या कर दी गई वहीं गोडसे की आवाज को भी तब के समय में दबा दिया गया। तत्कालीन समय ने उन्हें अपनी बात को कहने का एक भी मौका तक नहीं दिया, लेकिन ये फिल्म अब उन्हें ये मौका दे रही है।

कुछ लोगों का तो यहाँ तक मानना है कि इस फिल्म में निर्देशक द्वारा वो दिखाने की कोशिश की गई है कि अगर महात्मा गांधी और गोडसे जब आमने-सामने होते तो उन दोनों के बीच में क्या-क्या बातें होगी। किन-किन बातों पर उनके मतभेद होते। एमके गांधी उन्हें अपनी बातों से कैसे समझाने का प्रयास करते और उन बातों को नाथुराम गोडसे कैसे तर्क के साथ काटते रहते। जैसा की टीजर में भी दिखाई देता है।

गौरतलब है कि इस टीजर में एमके गांधी कहते हैं कि अगर मानवता को बचाना है तो प्रत्येक प्रकार की हिंसा को छोड़ना होगा। इसके जवाब में नाथूराम गोडसे टीजर वीडियो में एमके गांधी के ‘आमरण अनशन’ पर भी सवाल उठाते हैं। वे कहते हैं कि उनके पास एक खतरनाक हथियार है, जिसका नाम आमरण अनशन है। इसका वह बार-बार इस्तेमाल करके अपना बात मनवाते हैं। ये एक प्रकार की हिंसा ही है। मानसिक हिंसा।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

गांधी-गोडसे एक युद्ध फिल्म में हिंदुओं को बताया विलेन, मोशन पोस्टर के बाद बॉयकोट शुरू

%d bloggers like this: