धर्म

उत्तर प्रदेश के CM योगी आदित्यनाथ ने ये स्पष्ट की उनको धर्म और भगवान पर पूर्ण विश्वास होने का अर्थ ये नहीं की वे अंधविश्वास को भी माने.

द हिंदू को दिए एक इंटरव्यू के दौरान जनसंख्या की दृष्टिकोण से भारत के सबसे बड़े राज्य यानि उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ ने कुछ बातों पर अपनी स्पस्ट प्रतिक्रिया दी, इस दौरान उन्होंने धर्म, देश-प्रदेश की राजनीति, राज्य में कानून व्यवस्था, Covid-19 और कई अन्य मुद्दों के अलावा किसान आंदोलन और जनसंख्या नियंत्रण पर भी अपने विचार रखे. इसी बिच योगी जी ने यह भी स्पष्ट किया की वे धर्म और भगवान पर पूरा भरोसा करते हैं तो ये मतलब नहीं की वे किसी अंधविश्वास को भी माने.

जब योगी जी से पूछा गया की उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री नोएडा और बिजनौर जिलों का दौरा नहीं करता क्योंकि ऐसा करने से वह अगला चुनाव हार जाता है, सपा शासन के दौरान राज्य के मुख्यमंत्री रहे अखिलेश यादव समेत कई अन्य मुख्यमंत्री भी कभी इन जिलों के दौरों पर नहीं गए. इसका उत्तर देते हुए CM योगी ने कहा की “नोएडा और बिजनौर के बारे में कुछ भी कहा जाए, वह उनके कर्त्तव्य के रास्ते में नहीं आ सकता क्योंकि वह पूरे राज्य के मुख्यमंत्री हैं. वह भगवान पर भरोसा करते हैं और अपने धर्म एवं परम्पराओं का पालन करते हैं लेकिन उन्हें इस तरह के अंधविश्वास में कोई रुचि नहीं है”.

मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा की “मैं अपने कर्मों के अनुसार ही परिणाम की प्राप्ति करना चाहते हैं”. बता दें की इस बातचीत के दौरान योगी जी ने पर्यटन संवर्धन योजना के विषय पर कहा की “मुख्यमंत्री पर्यटन संवर्धन योजना के अंतर्गत विधायकों को किसी भी धार्मिक स्थान के सौंदर्यीकरण का सुझाव देने के लिए कहा गया है. इनके लिए सरकार फंड मुहैया कराएगी. हालांकि अब सपा विधायक भी दरगाह या मस्जिद की जगह मंदिर का सुझाव दे रहे हैं, ऐसे में अधिकतर सुझाव मंदिरों के हैं”.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

गोरखपुर के मंदिर से CM योगी ने 2 घंटे के अंदर हटवाया कब्जा

Leave a Reply

%d bloggers like this: