सिमाब अख्तर

एक तरफ पूरा देश झारखंड की अंकिता कुमारी की हत्या की कड़ी निंदा कर रहा है, वहीं दूसरी तरफ सिमाब अख्तर नामक पत्रकार को ये हत्या ‘नॉर्मल’ लगती है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार झारखंड में अंकिता हत्याकांड के बाद जगह-जगह आरोपित शाहरुख हुसैन को कड़ी से कड़ी सजा देने की माँग हो रही है। इसी बीच पटना में न्यूज4नेशन के पत्रकार सिमाब अख्तर ने उसके कृत्य को जायज ठहराने का प्रयास किया है। सिमाब अख्तर ने एक फेसबुक पोस्ट में आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए कहा कि जला जलौवल चलता ही रहता है।

आपको बताते चलें कि सिमाब अख्तर ने लिख रखा है, “ज्यादा बिलकुल नहीं होना चाहिए। जला जलौवल तो चलता ही रहता है।” इस कमेंट को पढ़ने के बाद एक यूजर ने उनसे पूछा, “पत्रकारिता कहाँ से सीख ली है। सिमाब अख्तर साहब। भाषा तो आपकी बिलकुल अच्छी नहीं है।” इस पर सिमाब ने शाहरुख को दोषी ठहराने या अपनी गलती मानने की बजाय फिर लिखा, “गहलोत साहब, उसने धोखा दिया और जला दिया। जहाँ हवस हो वहाँ हमदर्दी…।”

वहीं इस कमेंट को देखने के बाद कई लोगों ने इस पर प्रतिक्रिया दी है। बजरंग दल के शुभम भारद्वाज ने इस मामले को उठाते हुए कहा, “पत्रकार सिमाब अख्तर ने विधर्मियों द्वारा जलाई गई बहन अंकिता सिंह पर अमर्यादित टिप्पणी की है। कोई सरकारी तंत्र है जो कार्रवाई करे?” तो वहीं मिहिर झा कहते हैं, “सिमाब अख्तर से मिलिए। पटना में न्यूज4नेशन के पत्रकार हैं। इस तरह ये शाहरुख द्वारा अंकिता को जलाए जाने का जश्न मना रहे हैं।”

गौरतलब है कि झारखंड के दुमका में अंकिता कुमारी की हत्या से माहौल अब भी गरमाया हुआ है। केस की जाँच कर रहे दुमका के DSP नूर मुस्तुफा पर आरोपित को बचाने के इल्जाम लगने के बाद उन्हें जाँच से हटा दिया गया है। इस बीच अंकिता के पिता का एक बयान सामने आया है जिसमें वह बता रहे हैं कि कैसे अंकिता डॉक्टर बनने के सपने देखती थी, लेकिन शाहरुख उसे धर्म परिवर्तन के लिए दबाव बनाता था।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

‘जैसे मैं मर रही हूँ, वैसी ही वो भी मरे’ अंकिता कुमारी का आखरी वीडियो

%d bloggers like this: