हिन्दू महिला प्रधानाचार्य

आगरा के एक स्कूल कि हिन्दू महिला प्रधानाचार्य का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें वे अपने उत्पीड़न की कहानी रोते हुए बता रही है।

‘मुझे स्कूल की प्रिंसिपल सरकार ने बनाया है, लेकिन स्कूल की मुस्लिम शिक्षिकाएँ मुझे जीने नहीं दे रही हैं। इनकी लीडर है रिहाना खातून जो कि 15 साल से प्रिंसिपल की सीट पर कब्जा करना चाहती है। कुर्सी के लिए मेरा उत्पीड़न किया जा रहा है। अब आत्महत्या के अलावा दूसरा कोई चारा नहीं बचा है।’ यह दर्द है उत्तर प्रदेश के आगरा स्थित एक स्कूल की हिंदू महिला प्रधानाचार्य का। वीडियो वायरल:-

प्राप्त जानकारियों के मुताबिक उनका रोते हुए वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वो आगरा कैंट स्थित जॉय हैरिस स्कूल की प्रिंसिपल हैं। स्कूल की हिंदू प्रिंसिपल का नाम है ममता दीक्षित। ममता दीक्षित का कहना है कि वो स्कूल की प्रिंसिपल जरूर हैं, लेकिन स्कूल में बाकी टीचर मुस्लिम हैं और स्टूडेंट भी ज्यादातर मुस्लिम ही हैं। ममता दीक्षित का कहना है कि उनके खिलाफ साजिशें की जा रही हैं। अगर ऐसा ही चलता रहा तो उन्हें आत्महत्या करनी पड़ेगी।

रिहाना खातून पर आरोप लगाते हुए हिंदू प्रिंसिपल रोते हुए कहती हैं कि वो (रिहाना खातून) 6-7 मुस्लिम महिला शिक्षकों का एक गैंग लेकर चलती है। यहीं फर्स्ट ईयर और इंटर की मुस्लिम छात्राएँ बेबुनियाद गंभीर आरोप लगाती हैं और क्लास में जब भी वो पढ़ाने के लिए जाती हैं तो उनपर गंभीर आरोप लगाए जाते हैं। वायरल हो रहे वीडियो में रोते हुए प्रिंसिपल ममता दीक्षित कहती हैं कि उनके दो छोटे-छोटे बच्चे हैं।

उन्होंने बताया कि रिहाना खातून बीते 15 सालों से प्रिंसिपल की कुर्सी पर कब्जा करने की कोशिशें कर रही हैं। वो मेरे खिलाफ नारे लगवाती है और कुर्सी के लिए मेरा उत्पीड़न कर रही है।  150 से 200 ख्वाजा समुदाय की मुस्लिम लड़कियाँ लगातार उत्पीड़न कर रही हैं। अपनी स्कूटी से घर जाने में भी डर लगता है। ममता दीक्षित ने आरोप लगाया कि ये शिक्षकाएँ उनकी हत्या करवाकर रहेंगीं। वो कहती हैं कि हिंदू होने के कारण उनके साथ ऐसा किया जा रहा है।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

ईसाई प्रिंसिपल ने तिरंगे को सलामी देने से किया इनकार, कहा ‘हम केवल

हमारे भगवान को सलामी देंगे’

%d bloggers like this: