विश्व हिंदू परिषद

विधानसभा चुनावों के नतीजों के बाद पश्चिम बंगाल में बढ़ती हिंसा पर अब विश्व हिंदू परिषद ने भी इसे निंदा करार देते हुए बड़ा बयान जारी कर दिया.

2 मई को पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के नतीजे सामने आ गए, परिणामों में ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कोंग्रेस ने 200 से सीटों को जीतकर बारी बहुमत का ऐलान किया. लेकिन इस जीत के कारण राज्य में हिंसा बढ़ने लगी, भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को उनके घरों में घुसकर मारा जाने लगा और 2 महिला भाजपा एजेंटों के साथ दुष्कर्म का भी मामला सामने आया है.

देश भर में इस हिंसा का कड़ा विरोध किया जा रहा है, इसी बिच विश्व हिंदू परिषद ने भी अपनी चुप्पी तोड़ते हुए बड़ा बयान जारी कर दिया है. VHP ने कहा की “राजनीतिक मतभेदों के बहाने राज्य में हिंसा, आगजनी और बर्बरता की घटनाओं ने न केवल देश को शर्मसार किया है, बल्कि लोकतांत्रिक मर्यादाओं को भी तार-तार किया है”. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार VPH ने इसकी निंदा करते हुए राज्य सरकार से हिंसक उपद्रवियों के विरुद्ध कार्यवाही की मांग भी की हैं.

विश्व हिंदी परिषद ने कहा की “राज्य के लगभग हर हिस्से से लगातार यही खबरें आ रही हैं कि हिन्दू घरों, मंदिरों, बस्तियों, बहिन-बेटियों व व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को टीएमसी के कार्यकर्ता व जिहादी तत्व सरेआम हिंसा, आगजनी व लूटपाट का शिकार बना रहे हैं, अनेक हिंदुओं को राजनैतिक प्रतिद्वंदियों द्वारा लगातार धमकियाँ भी दी जा रही हैं तथा इन सब मामलों में स्थानीय पुलिस-प्रशासन मूक दर्शक बन तमाशा देख रहा है, ये हिंसा अब तक एक दर्जन से अधिक लोगों की जान ले चुकी तथा अनेक घर, दुकानें, मंदिर, बस्तियाँ व व्यावसायिक प्रतिष्ठान स्वाह हो चुके हैं, हिंसा की शिकार हुतात्माओं के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए विहिप महामंत्री ने माँग की कि राज्य शासन हिंसा के तांडव को अबिलंब रोक कर दंगाइयों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही करें”.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

विश्व हिंदू परिषद कोरोना से लड़ने को तैयार, टीम वर्क से करेंगे सेवा

By Sachin

3 thoughts on “हिंदुओं को खुद ही बचाव करना होगा, बंगाल हिंसा पर विश्व हिंदू परिषद का बयान”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *