आशीष मिश्रा

लखीमपुर खीरी घटना को लेकर केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा का बयान सामने आया है और उन्होंने इस मामले में फ़ैल रही अफवाहों को झूठा बताया.

नवभारत टाइम्स से की बातचीत में आशीष मिश्रा ने कहा “अभी हमारे पिता को किसानों ने कई कार्यक्रमों में आमंत्रित किया गया. हम लोग कृषि कानून के समर्थन में किसानों को बता रहे थे. कुछ लोगों को यह नागवार गुजर रहा था. ऐसे लोगों ने सोचा की मोनू को मार दें. बड़ी घटना कर दें. इनके परिवार में किसी को चोट कर दें या झूठे आरोपों में फंसाएं. ईश्वर की कृपा है कि मैं जिंदा हूं, क्योंकि मैं वहां नहीं था. जितने लोग थे सबको मार डाला गया. अगर मैं वहां होता तो क्या बच पाता? मुझे भी मार दिया जाता. मुझे खरोंच तक नहीं आई है”.

उन्होंने कहा “मैंने न्यूज और तस्वीरों में ही देखा कि बब्बर खालसा वाले वहां थे. लोग गड़ासे भाले लेकर आए थे. खालिस्तान की टीशर्ट पहनकर आए थे. जिस तरह से हमारे लोगों की पीट-पीटकर हत्या की गई, वह गंभीर है. हिंदुस्तान का किसान ऐसा नहीं कर सकता, हिंदू ऐसा नहीं कर सकता”. आशीष मिश्रा ने कहा “मेरे गांव बंघेरपुर गांव में 35 सालों से मेरे बाबाजी के नाम से एक कुश्ती प्रतियोगिता चल रही है. मेरे पिता इसके अध्यक्ष थे. 10-12 सालों से इसे मैं देख रहा हूं. उप-मुख्यमंत्री (केशव प्रसाद मौर्य) को चीफ गेस्ट बनने का अनुरोध किया था. तीन वाहन उनको रिसीव करने के लिए जा रहे थे. रास्ते में किसान लोग ने हमारी गाड़ी पर हमला बोला. सबसे पहले जिस महिंद्रा थार गाड़ी से मैं चलता था, उसमें कार्यकर्ता बैठे हुए थे, जैसा सुनने में आया है पर पथराव किया. उसमें से एक दो लड़के (जो घायल हैं) ने बताया कि ड्राइवर को पत्थर मारा गया और ड्राइवर अचेत हो गया. गाड़ी डिसबैलंस हो गई और उसमें हमारे चार कार्यकर्ताओं को, जिसमें मेरा ड्राइवर भी था कि पीट-पीटकर हत्या कर दी गई”.

खुद के घटना स्थल पर न होने को लेकर आशीष ने कहा “मैं कार्यक्रम का अध्यक्ष था. डेप्युटी सीएम को आना था. प्रशासनिक अमला मौजूद था. पुलिस-प्रशासन और लगभग ढाई हजार लोग वहां मौजूद थे. लखनऊ, वाराणसी और तमाम जगहों से पहलवान आए थे. डेप्युटी सीएम का कार्यक्रम था, इसलिए मंच को सब कवर किए थे. मैं सुबह 9 बजे से शाम को कार्यक्रम समापन तक अपने गांव में ही मौजूद रहा. मैं तिकुनिया गया ही नहीं, यह स्पष्ट हो जाएगा, इसके प्रमाण उपलब्ध हो जाएंगे”.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

वीडियो वायरल: लाठियां बरसाते ‘किसान’ :लखीमपुर खीरी मामले में सुप्रीम कोर्ट का बड़ा

By Sachin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *