याचिकाकर्ता

‘श्री कृष्ण जन्मभूमि मुक्ति आंदोलन समिति’ ने मथुरा की एक अदालत में एक याचिका लगाई है, जिसमें याचिकाकर्ता कृष्ण जन्म भूमि से ईदगाह को हटाने की मांग की है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उत्तर प्रदेश के मथुरा में भगवान श्री कृष्ण जन्मभूमि पर बनी ईदगाह को हटाने के लिए कोर्ट में याचिका दर्ज कराई गई हैं, यह याचिका ‘श्री कृष्ण जन्मभूमि मुक्ति आंदोलन समिति’ की ओर से महेंद्र प्रताप सिंह ने कोर्ट में दर्ज करवाई हैं. याचिकाकर्ता ने अपनी याचिका में ईदगाह को श्री कृष्ण जन्म भूमि से हटाने की मांग करते हुए सभी मुस्लिम को विश्वास दिलाया की “मुस्लिम यदि शाही ईदगाह ध्वस्त करते हैं तो उन्हें इससे डेढ़ गुना ज्यादा जमीन देंगें”.

बताया जा रहा है की इस याचिका में लिखा है की औरंगजेब ने मंदिर को ध्वस्त कर के उससे निकले पत्थरों से इस मस्जिद को बनवाया. सबूत के रूप में बताया गया है कि मस्जिद के कई पत्थरों पर अब भी हिन्दू शास्त्रों के शब्द खुदे हुए देखे जा सकते हैं. याचिका में नवंबर 2019 में सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए ऐतिहासिक राम मंदिर फैसले का भी जिक्र किया गया है. इसमें हिंदू पक्ष के हक में फैसला सुनाते हुए तत्कालीन मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की पीठ ने मस्जिद के लिए अयोध्या में ही अन्यत्र जमीन उपलब्ध कराने का निर्देश केंद्र सरकार को दिया था.

बता दें की यह याचिका मथुरा स्थित सीनियर डिवीजन के सिविल जज की अदालत में दायर की गई हैं, कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई आने वाली 5 जुलाई को तय हैं. गोरतलब है की इस मुद्दे पर शाही ईदगाह मस्जिद के काउंसलर और सचिव तनवीर अहमद ने बयान दिया की उनके पास अब तक किसी भी याचिका की कॉपी नहीं आई हैं और प्रति मिलने के बाद ही अपना कोई बयान जारी करेंगें.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

Supreme Court के पूर्व जज ने कहा “कशी-मथुरा मस्जिद गिरवाकर UP चुनाव जीतेगी

By Sachin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *