अवैध बांग्लादेशी

असम के मुख्य मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने एक बार फिर अवैध बांग्लादेशी मुसलमानों पर कड़ी टिप्पणी करी और इस बार उनका रवैया सख्त लग रहा है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार असम के CM हिमंत बिस्वा सरमा अवैध बांग्लादेशी नागरिकों को लेकर थोड़े गंभीर हो चुके हैं. अपने बेबाक बयानबाजी के लिए पुरे देश में लोकप्रिय हो चुके CM हिमंत जी ने एक बार फिर बड़ा बयान जारी कर दिया है. इस बार उन्होंने कहा की “अवैध बांग्लादेशी मुसलमान असम में चिंता का विषय है, हमें इस पर एक्शन लेना ही होगा”. मुख्य मंत्री सरमा ने जब से CM पद की शपत ली है, तब से ही कभी अपने कार्यों को लेकर सुर्ख़ियों में बने हुए हैं.

बता दें की इस बार उनके निशाने पर असम में अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशी मुस्लिम हैं, CM ने कहा की “अवैधबांग्लादेशी प्रवासी यानी मुस्लिम, जिन्होंने हमें चुनाव में एक भी वोट नहीं दिया. उन अवैध बांग्लादेशी मुसलमानों को निकालना है. मैं हर एक बूथ पर गया, मुझे पता है कि एक भी मुस्लिम वोटर ने बीजेपी को एक भी वोट नहीं दिया. ऐसे में बीजेपी पर आरोप लगाया जाता है कि वह वोट पाने के लिए असम में अवैध बांग्लादेशी प्रवासियों को संरक्षण देती है. तो NRC और CAA को लेकर आप क्या कहेंगे, ये आरोप निराधार हैं”.

गौरतलब है की उन्होंने आगे बातचीत में कहा की “असम-मिजोरम सीमा विवाद कोंग्रेस की देन है, उनकी गलतियों के कारण यह आज और बढ़ गया है. कोंग्रेस यह कभी नहीं चाहती थी कि नॉर्थ ईस्ट एक रहे. सीमा विवाद को तत्काल हल नहीं किया जा सकता है. दोनों राज्यों के बीच सीमा विवाद का ये मामला दशकों पुराना और काफी जटिल है. ऐसे में इसका हल एक रात में नहीं निकाला जा सकता. इसके लिए समय लगेगा”.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

असम CM हेमंत बिस्वा ने कहा “भारत में बैन हो एमनेस्टी इंटरनेशनल”

By Sachin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *