अन्ना हजारे

बीजेपी (BJP) और उनके नेताओं के द्वारा सीएम केजरीवाल और उनकी पार्टी से संबंधित वीडियो साझा करे जाते है। इसी क्रम में सीएम अरविंद केजरीवाल पर उनके गुरु अन्ना हजारे ने अपना दुख व्यक्त करते हुए उनके बारे में बोला।

प्राप्त जानकारियों के मुताबिक 1 नवंबर 2022 को बीजेपी (BJP) नेता जो कि कैबिनेट में मिनिस्ट्री ऑफ माइनोरिटी अफेयर्स (Ministry of Minority Affairs) के मंत्री है। वसीम आर खान ने अपने ट्विटर अकाउंट हैंडल से ट्वीट करते हुए एक वीडियो साझा किया जिसके टाइटल में लिखा हैं , “सत्ता और पैसे के लालच में केजरीवाल जी पूरी तरह बहक गए हैं।”

सत्ता और पैसों के लिए ईमान को दिया है

जिसमें सीएम अरविंद केजरीवाल के गुरु श्री अन्ना हजारे (Anna Hazare) ने अपना दुख व्यक्त करते हुए बोलते नज़र आते है, “क्या है सत्ता और पैसा, यह लोगों का क्या करेगा कुछ कह नहीं सकते। उस टाइम पर यह भी बोल रहे थे कि हम सत्ता में आने पर सरकार से तनख्वाह नहीं लेंगे, गाड़ी नहीं लेंगे, बंगला नहीं लेंगे यह सब बोल रहे थे। अभी आम आदमी पार्टी से भी इनकी तनख्वाह ज्यादा हैं, यह सब ठीक नहीं है। सत्ता और पैसे के लिए ईमान खो देना ये ठीक नहीं है।”

सत्ता में आने के बाद केजरीवाल ने मुझसे बात नहीं की

आगे वह विडियो में कहते है, “लेकिन सत्ता में जाने के बाद मेरे बाद में जो अनशन हुए उन अनशन में पता तक नहीं किया उस अनशन में क्या हो रहा हैं। पहले में देखता था इनके जीवन ने यह गुण थे लेकिन यह कुर्सी का क्या गुण है मुझे पता नहीं। इस कुर्सी पर बैठने के बाद बुद्धि का पलट हो जाता हैं, लेकिन दुविधा यह है एक दिन अन्ना मेरे गुरु कहने वाले आज रास्ता छोड़ के जा रहे है।”

आगे वह निराश हो कर कहते है कि इसका मुझे दुख हो रहा हैं। जब से मुख्यमंत्री बने है तब से हमारी कोई बात नहीं हुई, उनका रास्ता अलग हो गया है। आज बंगला लिया, गाड़ी लिया, सब कुछ लिए तो यह ठीक नहीं है हम जुबान लोगों को दिया हैं, उसको बदलना ठीक नहीं होगा। यह क्या सत्ता आज है कल नहीं। ईमान-ईमान ही होता है। शुरू में लोगों के लिए हम लोग आंदोलन किया वो भी साथ में थे।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

‘पब-बार खुले हैं तो मंदिर बंद क्यों?’ :अन्ना हजारे

%d bloggers like this: