सीएम योगी

देश में जहां कई सारे मुख्यमंत्री 5 साल केवल कुर्सी बचाने में निकाल देते हैं, लेकिन सीएम योगी आदित्यनाथ पूर्ण निष्ठा से अपना ‘धर्म’ निभाते हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार यूपी में राशन के करीब 80 हजार कोटेदारों को गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आर्थिक सशक्तिकरण की डबल सौगात दी। इस कार्यक्रम के दौरान उन्होंने अपने सम्बोधन में बताया की सनातन धर्म की परंपरा में अन्न को ‘ब्रह्म’ माना गया है और ‘अन्न दान’ सबसे बड़ा दान माना गया है। आप भी सुनिए सीएम योगी का पूरा बयान:-

आपको बताते चलें की कोटेदारों को सीएससी (कॉमन सर्विस सेंटर) के रूप में और सक्षम बनाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में जहां प्रदेश सरकार एवं सीएससी ई-गवर्नेंस सर्विस इंडिया लिमिटेड के बीच एमओयू हुआ। वहीं, मुख्यमंत्री ने कोटेदारों के लिए राशन वितरण पर प्रति क्विंटल 20 रुपये लाभांश वृद्धि की घोषणा भी की।

वहीं कोटेदारों का लाभांश प्रति क्विंटल 70 से बढ़ कर 90 रुपया हो गया है। इस लाभांश वृद्धि से सरकार के खजाने पर करीब 200 करोड़ रुपये का वार्षिक व्यय भार पड़ेगा। मंच से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ने राज्य सरकार जल्द ही प्रदेश भर की सभी उचित दर की दुकानों का और अपग्रेडेशन करने जा रही है। इससे कोटेदार और सशक्त बनेंगे और राशन वितरण के साथ अन्य सुविधाओं का लाभ आमजन तत्परता से मिलेगा।

गौरतलब है की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, गुरुवार को योगीराज बाबा गंभीरनाथ प्रेक्षागृह में गोरक्षनगरी के 1200 कोटेदारों से मुखातिब थे। उन्होंने कहा कि सीएससी के रूप में उचित दर की दुकानों के विक्रेताओं को सक्षम बनाने और लाभांश में 20 रुपये की वृद्धि प्रदेश के 80 हजार कोटेदारों के जीवन में व्यापक परिवर्तन लाने का अभियान है। प्रदेश में 15 करोड़ लोग कोटेदारों से खाद्यान्न लेते हैं, बावजूद इसके कोटेदारों को हेय दृष्टि से देखा जाता था।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

नाराज नंदी को प्यार से दुलारते दिखे सीएम योगी, देखिए अद्भुत वीडियो

%d bloggers like this: