उत्तर प्रदेश के CM योगी आदित्यनाथ ने एक कार्यक्रम में कहा की “जय श्री राम उत्तर प्रदेश में भी चलेगा, बंगाल में भी चलेगा और पूरे देश में भी चलेगा”.

जय श्री राम

हाल ही आयोजित किए गए एक कार्यक्रम के दौरान CM योगी से पूछे गए सवाल पर जवाब देते हुए उन्होंने कहा की “जय श्री राम उत्तर प्रदेश में भी चलेगा, बंगाल में भी चलेगा और पूरे देश में भी चलेगा”.

‘जय श्री राम’ पर 1990 के दशक की याद दिलाई

उन्होंने आगे अपने बयान को जारी रखते हुए कहा की “याद करिए 1990 के दशक के प्रारंभ में कुछ लोग उत्तर प्रदेश में भी ‘जय श्री राम’ का विरोध करते थे, लेकिन आज उसकी दुर्गति देश भी देख रहा है और दुनिया भी देख रही है और यह आज से नहीं हो रहा है रामायण काल से चलता आ रहा है. जो लोग राम के खिलाफ हैं उन्हें कहीं भी जगह नहीं मिलती है, भगवान उन्हें सद्बुद्धि दें कि कम से कम ‘जय श्री राम’ बोलने पर तो प्रतिबंध न लगाएँ, बंगाल के लोगों ने मन बना लिया है कि अब से जो लोग भगवान राम के साथ होंगे, वो भी उनके साथ ही रहेंगे”.

ग्लोबल इनसाइक्लोपीडिया ऑफ रामायण’ शुभारंभ

CM योगी आदित्यनाथ ने इस शनिवार को रामायण पर ई-पुस्तक फॉर्मेट में ‘ग्लोबल इनसाइक्लोपीडिया ऑफ़ रामायण’ को लॉन्च कर दिया है, यह अयोध्या शोध संस्थान द्वारा तैयार की गई है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट करके कहा की “’ग्लोबल इनसाइक्लोपीडिया ऑफ रामायण’ प्रकृति और परमात्मा के समन्वय को दर्शाने का कार्य करेगा, यह विज्ञान और अध्यात्म के अनेक अनछुए पहलुओं को जानने का अवसर भी प्रदान करेगा”.

एक ओर ट्वीट में वे लिखते हैं की “मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम ने भगवान विष्णु के साक्षात अवतार होने के बावजूद मानवीय मर्यादाओं के अंदर अपनी पूरी लीला को रचा, प्रभु श्री राम की यह महानता थी कि उन्होंने सामान्य मनुष्य की भांति कष्टों को सहते हुए मानवीय मर्यादाओं का पग-पग पालन किया”.

इसे भी पढ़ें:-

बंगाल में गूंजे ‘जय श्री राम’ के नारे, गौह्त्याओं पर ममता पर भड़के CM योगी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: