Pakistan

पड़ोसी देश Pakistan के एक न्यूज़ चैनल ने सभी कट्टरपंथीयों से इजरायल के खिलाफ़ ‘जिहाद’ का आवाहन किया है, इसके लिए कुरान का हवाला भी दिया गया.

ऑपइंडिया के एक लेख के मुताबिक Pakistan के एक समाचार संस्था ने इजरायल द्वारा की जा रही हमास के आतंकियों पर कार्रवाई पर टिप्पणी करते हुए सभी मुसलमानों से ‘जिहाद’ का आवाहन कर दिया. बता दें की ‘टाइम फॉर जिहाद इज़राइल बनाम फिलिस्तीन’ वाले शीर्षक वाले कंटेंट को 16 मई रविवार को प्रकाशित किया, जिसमें शो के होस्ट नूर-उल-अरफीन ने बड़ा ही भड़काऊ बयान दिया.

नूर-उल-अरफीन ने कहा की “जब मैं आपसे बात कर रहा हूँ तो दुनिया की सबसे बड़ी मानवीय त्रासदी चल रही है, इससे पहले कि मैं इसके बारे में आगे बात करूँ, मैं आपको याद दिला दूँ कि कुरान इन हालातों में मोमिनों को क्या करने की सलाह देता है”. बता दें की कुरान के 9वें अध्याय ‘सूरह-ए-तौबा’ पर प्रकाश डालते हुए एंकर ने जिहाद करने की बात भी करी.

शो के होस्ट नूर-उल-अरफीन ने दमदार आवाज में कहा की “आज मैं जो कुछ भी कहूँगा वो इस्लाम के प्रति धार्मिक जुड़ाव का नजरिए होगा, न तो मुझे अंतरराष्ट्रीय संबंधों को लेकर कोई रुचि है और न ही मैं जनहित के किसी दिशा-निर्देशों का पालन करूँगा. आप ‘सूरह-ए-तौबा’ की कई आयतें और उसकी व्याख्या स्क्रीन पर देख सकते हैं. वह अल्लाह की खोज में जिहाद का आह्वान करता है, चाहे वह कम हो या ज्यादा, सभी मुसलमानों के लिए अल्लाह का यही संदेश है”.

बता दें की नूर-उल-अरफीन ने दुःख जताया की दुनिया के मुसलमान कहते हैं कि वे अंतरराष्ट्रीय संबंधों और संधियों से बंधे हैं और इस तरह जिहाद के लिए तैयार नहीं हैं. आगे बढ़ते हुए उसने कुरान के चौथे अध्याय ‘सूरह-एन-निसा’ हवाला देते हुए कहा की “मुसलमानों आप असहाय महिलाओं और बच्चों पर किए गए अत्याचारों को क्यों नहीं देखते? क्या कोई सच्चा मुस्लिम नेता नहीं है जो दुनिया पर राज करने की लालसा रखने वालों के हाथ रोक सके? यह गाजा में अब तक का सबसे घातक हमला है, जिसमें 150 से अधिक लोग बलिदान हुए हैं”.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

भारत के आगे एक बार फिर पाकिस्तान ने टेके घुटने, जानिए पूरा मामला

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: