DDC चुनाव

जम्मू और कश्मीर में 22 दिसम्बर 2020 को हुए DDC चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने पहली बार जम्मू क्षेत्र में 3 सीटों पर जीत हासिल की. जम्मू में पहली बार जीत के बावजूद भाजपा को इन चुनाव से भरी नुकसान का सामना करना पड़ सकता हैं.

DDC चुनाव

भारतीय जनता पार्टी को जम्मू और कश्मीर के DDC चुनाव 2020 में कुल 46 सीटों पर जीत हासिल हुई हैं. जिनमे से 3 सीटें भाजपा ने कश्मीर घाटी से हासिल कर ली हैं. आपको बता दें की कश्मीर घाटी के इस क्षेत्र में मुसलमानों का कट्टरवाद फैला हुआ है इस बीच बीजेपी ने कश्मीर में अपना भगवा ध्वज लहराया, यह बीजेपी के लिए बहुत बड़ी ख़ुशी की बात हैं.

जम्मू और कश्मीर पूरे राज्य में DDC की कुल 280 सीटें हैं. जिनमे से भारतीय जनता पार्टी को 71 सीटों पर जीत हासिल की हैं. हालांकि यह एक बड़ा आंकड़ा नहीं है लेकिन फिर भारतीय जनता पार्टी की उस क्षेत्र में यह बड़ी जीत बताई जा रही है. इस बड़ी जीत के बावजूद बीजेपी के लिए इन चुनाव में बहुत बड़ा नुकसान हुआ हैं.

बीजेपी को हुआ DDC चुनाव 2020 से ये नुकसान

DDC चुनाव 2020 में बीजेपी के लिए जो नुकसान की बात यह है की कश्मीर की कुल 140 सीटों हैं. जिनमें नेशनल कॉन्फ्रेंस ने 42 सीटों पर जीत हासिल की. 26 सीटों पर पीपीडी पार्टी ने जीत हासिल की. इसके बाद जो बची हुई सीटों पर इन दोनों पार्टियों के ही सहयोगी दलों ने जीत हासिल की. भाजपा ने इस क्षेत्र में पहली बार चुनाव लड़ा और 3 सीटों पर जीत हासिल की.

DDC चुनाव

इनमे भाजपा के लिए सबसे बड़ी समस्या या नुकसान की बात यह है की कश्मीर में भाजपा के अलावा जितनी भी पार्टियों ने जीत हासिल की उन सब ने धारा 370 को खत्म करने का विरोध किया था. अब इन पार्टियों के पास विधानसभा में जीत हासिल करने का बड़ा मौका हैं. जिसके बाद यह कश्मीर से जम्मू में प्रवेश करके भाजपा द्वारा कश्मीर में खत्म की गई धारा 370 को वापस लाने का दावा ठोक सकती हैं.

अगर धारा 370 कश्मीर में वापस लागु होती है तो बीजेपी के लिए बड़े नुकसान की बात हैं.

यह भी पढ़ें :-

बंगाल में अमित शाह ने TMC के खोल दिए सारे राज

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: