सीएम योगी

सीएम योगी ने हाल ही में हुए एक कार्यक्रम में उन सभी हजारों हिंदुओं की हुतात्माओं को याद किया जिन्होंने कट्टरता के जहर के कारण अपनी जान गवां दी.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ ने केरल में हुए मोपला नरसंहार की 100वीं बरसी पर आयोजित एक कार्यक्रम को सम्बोधित किया, इस संबोधन में उन्होंने कई खुलासे किए और भारतीय इतिहास के साथ शोषण के मुद्दे को भी जोरों सोरों से जनता के सामने रखा. सीएम योगी ने कहा “ये नरसंहार योजनाबद्ध तरीके से कई महीनों तक चला, जिसमें 10,000 हिन्दुओं की हत्या हुई, माताओं-बहनों का शीलभंग हुआ और मंदिरों को तोड़ा गया”.

CM योगी ने बताया की कैसे उस समय जिहादी तत्वों ने हिन्दुओं का नरसंहार किया था, सीएम योगी ने कहा “तुष्टिकरण के कारण इतिहास को बदल दिया गया, जिसे तत्कालीन सत्ताधीशों का संरक्षण दिया. आदि शंकराचार्य की धरती पर हिन्दुओं की रक्षा के लिए गुरु गोरखनाथ के अनुयायी भी आए थे, गोरखनाथ के अनुयायियों के मालाबार के हिन्दुओं पर बड़े उपकार हैं. हम कैसे स्वाधीन हुए, जिसके पीछे जितने वीर नायक-नायिका थे उन सबकी गाथा हम फिर से सुनेंगे”.

सीएम योगी ने कहा “कुछ इतिहासकारों ने सही इतिहास लिखने का प्रयास किया ज़रूर, लेकिन सही इतिहास आज भी पढ़ने को नहीं मिलता. इतिहास को ठीक परिप्रेक्ष्य में समाज के सामने रखे जाने की आवश्कता है. हिन्दुओं का नरसंहार करने वाले मोपला मुस्लिमों व उनके वंशजों को अब भी ‘स्वतंत्रता सेनानी’ बताते हुए उन्हें कोंग्रेस व वामपंथी सरकारों द्वारा पेंशन भी दिया जा रहा है, जो हमारे टैक्स के पैसों से जाता है. 100 वर्ष बाद इसे याद करने की वजह ये है कि हम इससे सीखेंगे नहीं तो इतिहास खुद को दोहराता है, कैसे इस्लामी ताकतों ने अलग-अलग देशों में दंगे किए, जिसकी पुनरावृत्ति अब देखने को मिल रही है”.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

महिर भोज को लेकर दादरी में CM योगी आदित्यनाथ ने कही बड़ी बातें

By Sachin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *