राहुल गांधी

कोंग्रेस के सांसद राहुल गांधी ने विश्व के सबसे बड़े संगठन राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पर ‘महात्मा गांधी’ के नाम पर एक फिर कोसना शुरू कर दिया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कोंग्रेस पार्टी के वायनाड क्षेत्र से चुने हुए सांसद राहुल गांधी ने हाल ही आयोजित भारतीय महिला कोंग्रेस के स्थापना दिवस पर हुए एक समारोह में आरएसएस और भारतीय जनता पार्टी पर हमला बोला. इस दौरान उन्होंने स्वर्गीय महात्मा गांधी का उदाहरण देते RSS प्रमुख पर तीखी टिप्पणी करते हुए कहा की राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की तस्वीरों में आस पास दो तीन महिलाएं दिखती हैं लेकिन मोहन भागवत की तस्वीर में कोई महिला क्यों नहीं दिखती हैं? क्योंकि उनका संगठन महिलाओं को दबाता है और हमारी पार्टी उन्हें मंच देती है.

राहुल गांधी के वैसे बयान के बाद सोशल मीडिया पर उन्हें काफ़ी ट्रोल किया गया. कोंग्रेस के अधिकारिक ट्विटर हैंडिल से राहुल गांधी की ओर से यह भी बयान आया की “अगर गाँधी जी ने हिंदू धर्म को समझा और अपनी पूरी जिंदगी इस धर्म को समझने में लगा दी तो आरएसएस की विचारधारा ने उस हिंदू की छाती पर तीन गोली क्यों मारी?” उनके इस बयान के बाद सोशल मीडिया में खलबली मच गई, बता दें की नाथूराम गोडसे नामक व्यक्ति ने ही महात्मा गांधी की छाती में तीन गोली मारकर खुद को उसी समय पुलिस और कानून को समर्पित कर दिया.

गौरतलब है की सरेंडर के बाद कोर्ट में उन्होंने इस मुद्दे पर एक भावुक बयान दिया, मीडिया संस्था पत्रिका की एक रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने कहा “…जब कॉन्ग्रेस के शीर्ष नेताओं ने गाँधी जी की सहमति से इस देश को काट डाला जिसे हम पूजनीय मानते हैं तो मेरा मस्तिष्क क्रोध से भर गया. मैं साहसपूर्वक कहता हूँ कि गाँधी अपने कर्तव्य में विफल हुए और उन्होंने खुद को पाकिस्तान का पिता होना सिद्ध किया. मैंने ऐसे व्यक्ति पर गोली चलाई जिसकी नीतियों और कार्यों से करोड़ों हिंदुओं को केवल बर्बादी मिली. ऐसी कोई कानूनी प्रक्रिया नहीं थी जिससे उस अपराधी को सजा मिलती इसलिए मैंने इस घातक रास्ते को अपनाया”. गोडसे ने यह भी कहा की जब तक सिन्धु नदी भारत के ध्वज के नीचे ना बहे, तब तक मेरी अस्थियों का विसर्जन ना किया जाए.

इसे भी जरुर ही पढिए:-

राहुल गांधी का ट्विटर अकाउंट सस्पेंड, जानिए पूरा सच

By Sachin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *