गौ हत्या

एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए कोलकता हाई कोर्ट ने गौ हत्या पर रोक लगा दी है, इसके साथ कोर्ट ने कई अहम फैसले भी सुनाए हैं.

गौ हत्या

देश भर के गाय प्रेमियों के लिए एक अच्छी खबर सामने आई हैं, दरअसल पश्चिम बंगाल के कोलकता में एक जन हित याचिका पर सुनवाई करते हुए कोलकता हाई कोर्ट ने सख्ती दिखाई है. कोर्ट ने नगर निगम को आदेश जारी किए की गाय और अन्य मवेशियों की गैर क़ानूनी तौर पर हो रही हत्याओं पर सख्ती से रोक लगाई जाए.

गौ हत्या पर रोक के कारण

हाल ही कोलकता हाई कोर्ट में एक जन हित याचिका दर्ज की गई थी, जिसके कारण ही कोर्ट ने इस मामले पर ध्यान दिया ओर नगर निगम को अपना ये स्पष्ट फैसला सुनाया. इस जन हित याचिका में कोर्ट से कई प्रकार के अनुरोध किए गए थे.

आपको बता दें जन हित याचिका में कोर्ट को कहा गया था की “बकरीद व अन्य मौकों पर कानूनों का पालन किए बगैर बड़े पैमाने पर गाय सहित अन्य मवेशियों को काटा जाता है और याचिका दर्ज करते हुए नगर निगम ने कोर्ट को स्पष्ट रूप से बताया था कि वह ऐसी स्थिति में क्या कार्रवाई कर रहा है और इस स्थिति से कैसे निपटेगा.

बी. राधाकृष्णन और अरिजीत बनर्जी की खंडपीठ ने ये निर्देश दिए

कोलकता हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस बी. राधाकृष्णन और जस्टिस अरिजीत बनर्जी की खंडपीठ ने ये निर्देश दिए नगर निगम को दिए हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कोर्ट ने निगम को निर्देश दिए हैं की “वे गाय सहित अन्य सभी मवेशियों को अनधिकृत या अनियंत्रित ढंग से काटने और इसके बाद इनके मांस का व्यापार करने वालों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करे”.

ऐसा करने के लिए कोर्ट ने निगम को उन उपायों को सख्ती से लागु करने को कहा है जिनका जिक्र अदालत के समक्ष दायर शपथ-पत्र में किया है.

इसे भी पढ़ें:-

हिंदू महासभा ने राजधानी में गोडसे यात्रा निकालने की तैयारी, बाबूलाल चौरसिया है कारण

%d bloggers like this: