हिंदू राष्ट्र

भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने के लिए संतों की मोहीम लगातार जारी हैं और इसी क्रम में अब बड़ी अपडेट सामने आई हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार महाकुंभ 2025 में सनातन हिंदू राष्ट्र निर्माण के संकल्प की घोषणा की जाएगी। देश के 11 शहरों की जनता का मन टटोला जाएगा। जनता के निर्णय के आधार पर इसे मूर्त स्वरूप प्रदान किया जाएगा। शुरुआत देश की सांस्कृतिक राजधानी काशी में महायज्ञ से होगी। यह घोषणा बनारस पहुंचे जगद्गुरु रामानुजाचार्य स्वामी वृंदावन दास महाराज ने शनिवार को की।

आपको बताते चलें की जगद्गुरु ने कहा “समस्त भारत भूमि पर रहने वाले सनातन धर्मी हैं। हिंदू, मुसलमान, सिख, ईसाई, बौद्ध, पारसी की उत्पत्ति का मूल सनातन धर्म ही है। इसे लेकर किसी भी तरह का विभेद नहीं होगा। सनातन हिंदू धर्म सहिष्णुता की बात करता है और सच्चा हिंदू सहिष्णु होता है।” उनके इस बयान के बाद मीडिया में सनसनी फैल गई है।

बताया यह भी जा रहा है की देश की सांस्कृतिक राजधानी में राधा अष्टमी से महायज्ञ के जरिये इसका श्रीगणेश किया जाएगा। जनता से हम पूछेंगे कि वह सनातन हिंदू राष्ट्र चाहती है या नहीं। वाराणसी के बाद दिल्ली, पटना, जयपुर, अहमदाबाद, भोपाल, रायपुर, मुंबई, रांची, पुणे और हरिद्वार में महायज्ञ किया जाएगा। वहीं 11 शहरों के आयोजन के बाद जनता के मत के आधार पर 2025 में होने वाले महाकुंभ में संत समाज सनातन हिंदू राष्ट्र का जयघोष करेगा। बनारस में महायज्ञ का आयोजन 28 अगस्त से चार सितंबर तक किया जाएगा।

गौरतलब है की हाल ही में महामंडलेश्वर ने भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित कराने के लिए खून से पत्र ही लिखा है महामंडलेश्वर हिंदू राष्ट्र की मांग को लेकर सुनरख मार्ग स्थित महेश्वर धाम आश्रम पर अखंड श्रीराम महायज्ञ भी चालू किया हुआ है। इस संबंध में महेश्वर धाम पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर धर्मेंद्र गिरी गोस्वामी ने बताया कि प्रधानमंत्री का ध्यान इस मांग की ओर केंद्रित करने के लिए देश के सवा सौ करोड़ संत व हिंदूवादियों की ओर से रक्त से पत्र लिखा गया है।

इसे भी जरूर ही पढ़िए:-

भारत को इस्लामी मुल्क बनाना चाहते हैं सभी मुसलमान, अब हिंदू राष्ट्र घोषित करो –पीसी जोर्ज

%d bloggers like this: